भद्वमाता मंदिर  

भद्वमाता मंदिर मध्य प्रदेश में नीमच के पूर्व में 18 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। संगमरमर से निर्मित महामाया भद्वमाता का यह बहुत सुंदर मंदिर है। मंदिर में स्थित बावड़ी को 'आरोग्य तीर्थ' के नाम से जाना जाता है।[1]

  • मंदिर में माता की मूर्ती के चारों ओर नौ दुर्गा की मूर्तियाँ रखी हुई हैं, इनके नाम हैं- ब्रह्मी, महेश्वरी, कुमारी, वैष्णवी, वाराही, नरसिंही, इंद्री, शिवदत्ती एवं चामुंडा।
  • भद्वमाता मंदिर भारत में शक्ति को प्रदर्शित करने वाले महत्वपूर्ण मंदिरों में से एक है।
  • इस मंदिर में आने वाले भक्तों को मंदिर में आने के बाद अभूतपूर्व मानसिक शांति प्राप्त होती है एवं वे स्वयं को आध्यात्मिक रूप से बहुत मजबूत महसूस करते हैं।
  • मंदिर परिसर में पानी की एक पवित्र बावड़ी है, जिसे 'आरोग्य तीर्थ' के नाम से जाना जाता है। इस बावड़ी का पानी इसलिए प्रसिद्ध है, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इस पवित्र तालाब में स्नान करने पर त्वचा की सारी बीमारियाँ दूर हो जाती हैं।
  • पौराणिक कथाओं के एक महत्वपूर्ण भाग के अनुसार माना जाता है कि भद्वमाता अपने भक्तों को आशीर्वाद देने के लिए इस मंदिर में मौजूद हैं।
  • मंदिर में रोज़ होने वाली शाम की आरती देखने के बाद पर्यटक हैरान रह जाते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भद्वमाता मंदिर (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 12 जून, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=भद्वमाता_मंदिर&oldid=493499" से लिया गया