धार क़िला  

धार मध्यकालीन नगर है,जो पश्चिमी मध्य प्रदेश राज्य के मालवा क्षेत्र में स्थित है। धार का यह प्रसिद्ध क़िला नगर के उत्तर में स्थित एक छोटी पहाड़ी पर बना हुआ है। यह विशाल क़िला लाल बलुआ पत्थर से बना है, और समृद्ध इतिहास के आइने का झरोखा है, जो अनेक उतार-चढ़ावों को देख चुका है। महमूद तुग़लक़ ने इस क़िले को 1344 ई. में बनवाया था। 1731 ई. में इस पर पवाँर राजपूतों का अधिकार हो गया था। इस क़िले का महत्त्व 1857 के विद्रोह दौरान बढ़ गया था। क्रांतिकारियों ने विद्रोह के दौरान इस क़िले पर अधिकार कर लिया था। बाद में ब्रिटिश सेना ने क़िले पर पुन: अधिकार कर लिया और यहाँ के लोगों पर अनेक प्रकार के अत्याचार किए। हिन्दू, मुस्लिम और अफ़गान शैली में बना यह क़िला पर्यटकों को लुभाने में सफल होता है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. धार (हिन्दी) यात्रा सलाह। अभिगमन तिथि: 28 अक्टूबर, 2010

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=धार_क़िला&oldid=290110" से लिया गया