नेफियू रियो  

नेफियू रियो
नेफियू रियो
पूरा नाम नेफियू रियो
जन्म 11 नवंबर, 1950
जन्म भूमि कोहिमा, असम (अब नागालैंड)
पति/पत्नी कैसा रियो
नागरिकता भारतीय
पार्टी नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी)
पद नागालैंड के वर्तमान मुख्यमंत्री
कार्य काल 6 मार्च 2003 – 3 जनवरी 2008; 12 मार्च 2008 – 23 मई 2014; 8 मार्च 2018 से अब तक
निवास दीमापुर
अद्यतन‎

नेफियू रियो (अंग्रेज़ी: Neiphiu Rio) नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) के अध्यक्ष और नागालैंड के वर्तमान मुख्यमंत्री हैं। इससे पहले वे लगातार तीन बार और 11 वर्षों तक (2003–08, 2008–13 एवं 2013–14) राज्य के मुख्यमंत्री रहे हैं।

जीवन परिचय

नेफियू रियो का जन्म नागालैंड की राजधानी कोहिमा के तुओफेमा गांव में 11 नवंबर 1950 को हुआ। रियो का परिवार नागालैंड की अंगामी नागा जनजाति से है। शुरुआती शिक्षा नेफियू रियो ने कोहिमा के बापटिस्ट इंगलिश स्कूल और पश्चिम बंगाल के पूरूलिया में स्थित सैनिक स्कूल से ग्रहण की। इसके बाद दार्जिलिंग के सेंट जोसेफ कॉलेज से स्नातक किया और अपने राज्य में लौटकर कोहिमा आर्टस कॉलेज में भी उच्च शिक्षा ग्रहण की। स्कूल कॉलेज के दिनों में ही नेफियू रियो ने छात्र नेता के रूप में पहचान स्थापित कर ली थी। काफी छोटी उम्र में इन्होंने राजनीति के क्षेत्र में खुद को आजमाना शुरू किया। 1974 में वे कोहिमा डिस्ट्रिक्ट यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ़्रंट (UDF) की युवा शाखा के अध्यक्ष बने। 1984 में उन्होंने नोर्दन अंगामी एरिया काउंसिल के चेयरमैन का पद भी संभाला। इंडियन रेडक्रॉस सोसाइटी नागालैंड ब्रान्च (Indian Red Cross Society Nagaland branch) के वे मानद उपाध्यक्ष भी रहे हैं।[1]

राजनीतिक परिचय

राजनीति की मुख्य धारा में प्रवेश के बाद पहली बार नेफियू रियो ने 1989 में हुए सातवीं लोकसभा के लिए चुनावों में खुद को आजमाया। तब उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में नोर्दन अंगामी-II सीट से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। केंद्र सरकार में उन्हें पहले खेल और स्कूली शिक्षा मंत्रालय मिला। कुछ समय बाद उन्हें उच्च व तकनीकी शिक्षा का मंत्री बना दिया गया। नेफियू रियो नागालैंड औद्योगिक विकास निगम, नागालैंड खादी एवं ग्रामीण उद्योग परिषद के अलावा नागालैंड विकास प्राधिकरण के चेयरमैन भी रहे। 1993 के लोकसभा चुनावों में नेफियू रियो दोबारा अपनी सीट से चुने गए। इस बार उन्हें वर्क्स एंड हाउसिंग (Works & Housing) मंत्रालय दिया गया। इसके बाद 1998 में जब राज्य में एस.सी.जामिर के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बनी तो नेफियू रियो उसमें गृहमंत्री बने। बाद में नागा मुद्दों पर मुख्यमंत्री एस.सी. जमीर से मतभेदों के चलते उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया और नागा प्यूपिल्स फ्रंट (Naga People’s Front) में शामिल हो गए। नागा प्यूपिल्स फ्रंट कई क्षेत्रीय नागा पार्टियों और भाजपा की राज्य इकाई का संयुक्त मंच था, जिसे डेमोक्रेटिक एलाइंस ऑफ़ नागालैंड (DAN) के गठबंधन के तहत बनाया गया था। 2003 में नेफियू रियो की अगुवाई में इस गठबंधन को राज्य विधानसभा चुनावों में जीत मिली और कांग्रेस के 10 साल से चले आ रहे शासन का अंत हो गया। 6 मार्च 2003 को रियो ने पहली बार राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।[1]

चौथी बार बने मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री के रूप में अपना पहला कार्यकाल पूरा करने के पहले ही नेफियू रियो को मुख्यमंत्री पद से हटना पडा क्योंकि 3 जनवरी 2008 को यहां राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया। लेकिन अगले चुनाव में उनकी पार्टी फिर से सबसे बडी पार्टी के रूप में उभरी और 12 मार्च 2008 को दूसरी बार मुख्यमंत्री बने। पांच साल बाद 2013 में हुए विधानसभा चुनावों में एनपीएफ को भारी बहुमत से जीत मिली और वे तीसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने। 2018 में हुए विधानसभा चुनावों में 60 सदस्यीय विधानसभा में नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) को 26 सीटें मिली थीं। एनडीपीपी-भाजपा गठजोड़ को 30 सीटें मिली हैं और उनको दो अन्य विधायकों का समर्थन हासिल है। राज्यपाल पीबी आचार्य ने 8 मार्च, 2018 को उन्हें चौथी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। शपथग्रहण समारोह में भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण सहित मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय के मुख्यमंत्री समारोह में मौजूद रहे।



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 नेफियू रियो की जीवनी (हिंदी) www.Knowledgeum.Com। अभिगमन तिथि: 11 मार्च, 2018।

संबंधित लेख

भारतीय राज्यों में पदस्थ मुख्यमंत्री
क्रमांक राज्य मुख्यमंत्री (पार्टी) पदभार ग्रहण
1. अरुणाचल प्रदेश पेमा खांडू (भाजपा) 17 जुलाई 2016
2. असम सर्बानन्द सोनोवाल (भाजपा) 24 मई 2016
3. आंध्र प्रदेश चंद्रबाबू नायडू (तेदेपा) 8 जून 2014
4. उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ (भाजपा) 19 मार्च 2017
5. उत्तराखण्ड त्रिवेंद्र सिंह रावत (भाजपा) 18 मार्च 2017
6. ओडिशा नवीन पटनायक (बीजद) 5 मार्च 2000
7. कर्नाटक सिद्धारमैया (कांग्रेस) 13 मई 2013
8. केरल पिनाराई विजयन (माकपा) 25 मई 2016
9. गुजरात विजय रूपाणी (भाजपा) 7 अगस्त, 2016
10. गोवा मनोहर पर्रीकर (भाजपा) 14 मार्च 2017
11. छत्तीसगढ़ रमन सिंह (भाजपा) 7 दिसम्बर 2003
12. जम्मू-कश्मीर महबूबा मुफ़्ती (जेकेपीडीपी) 4 अप्रैल 2016
13. झारखण्ड रघुवर दास (भाजपा) 28 दिसम्बर, 2014
14. तमिल नाडु के. पलानीस्वामी (अन्ना द्रमुक) 16 फ़रवरी 2017
15. त्रिपुरा बिप्लब कुमार देब (भाजपा) 9 मार्च 2018
16. तेलंगाना के. चन्द्रशेखर राव (तेरास) 2 जून 2014
17. दिल्ली अरविन्द केजरीवाल (आप) 14 फ़रवरी 2015
18. नागालैण्ड नेफियू रियो (एनडीपीपी) 8 मार्च 2018
19. पंजाब अमरिंदर सिंह (कांग्रेस) 16 मार्च 2017
20. पश्चिम बंगाल ममता बनर्जी (तृणमूल कांग्रेस) 20 मई 2011
21. पुदुचेरी वी. नारायणसामी (कांग्रेस) 6 जून 2016
22. बिहार नितीश कुमार (जदयू) 27 जुलाई 2017
23. मणिपुर एन बीरेन सिंह (भाजपा) 15 मार्च 2017
24. मध्य प्रदेश शिवराज सिंह चौहान (भाजपा) 29 नवंबर 2005
25. महाराष्ट्र देवेन्द्र फडणवीस (भाजपा) 31 अक्टूबर 2014
26. मिज़ोरम लल थनहवला (कांग्रेस) 11 दिसंबर 2008
27. मेघालय कॉनराड संगमा (एनपीपी) 6 मार्च, 2018
28. राजस्थान वसुंधरा राजे सिंधिया (भाजपा) 13 दिसंबर 2013
29. सिक्किम पवन कुमार चामलिंग (एसडीएफ) 12 दिसंबर 1994
30. हरियाणा मनोहर लाल खट्टर (भाजपा) 26 अक्टूबर 2014
31. हिमाचल प्रदेश जयराम ठाकुर (भाजपा) 27 दिसंबर 2017

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=नेफियू_रियो&oldid=620451" से लिया गया