मनोहर पर्रीकर  

मनोहर पर्रीकर
मनोहर पर्रीकर
पूरा नाम मनोहर गोपालकृष्‍ण प्रभु पर्रीकर
जन्म 13 दिसम्बर, 1955
जन्म भूमि मापुसा, गोवा
मृत्यु 17 मार्च, 2019
मृत्यु स्थान पणजी
अभिभावक गोपाल कृष्ण पर्रीकर, राधा बाई पर्रीकर
पति/पत्नी मेधा पर्रीकर
संतान अभिजीत पर्रीकर और उत्पल पर्रीकर
नागरिकता भारतीय
पार्टी भारतीय जनता पार्टी
पद गोवा के वर्तमान मुख्यमंत्री, (चार बार); भारत के पूर्व रक्षामंत्री
कार्य काल मुख्यमंत्री - 24 अक्टूबर 2000 से 27 फरवरी 2002; 5 जून 2002 से 29 जनवरी 2005; 2012 से 8 नवंबर 2014; 14 मार्च 2017 से 17 मार्च 2019 तक; रक्षामंत्री -9 नवंबर 2014 से 13 मार्च 2017
शिक्षा आई.आई.टी. से स्नातक
विद्यालय मुंबई विश्वविद्यालय
भाषा हिंदी, अंग्रेज़ी और मराठी
अन्य जानकारी मनोहर पर्रीकर की काबिलियत को देखते हुए महज 26 साल की उम्र में ही उन्हें गोवा का संघ संचालक बना दिया गया था।

मनोहर पर्रीकर (अंग्रेज़ी: Manohar Parrikar जन्म: 13 दिसम्बर, 1955, निधन: 17 मार्च 2019, पणजी) वर्तमान में गोवा के मुख्यमंत्री है तथा भारत के रक्षा मंत्री भी रह चुके है। मनोहर पर्रीकर उत्तर प्रदेश से राज्य सभा सांसद थे। उन्होंने सन् 1978 मे आई.आई.टी. मुम्बई से स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण की थी। भारत के किसी राज्य के मुख्यमंत्री बनने वाले यह पहले व्यक्ति हैं जिन्होंने आई.आई.टी. से स्नातक किया। उन्हें सन् 2001 में आई.आई.टी. मुम्बई द्वारा विशिष्ट भूतपूर्व छात्र की उपाधि भी प्रदान की गयी।[1]

जीवन परिचय

मनोहर पर्रीकर का पूरा नाम 'मनोहर गोपालकृष्‍ण प्रभु पर्रीकर' है। इनका जन्‍म 13 दिसंबर 1955 को गोवा के मापुसा में हुआ। उन्‍होंने अपने स्‍कूल की शिक्षा मारगाव में पूरी की। इसके बाद आई.आई.टी. मुम्बई से इंजीनियरिंग और 1978 में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की।[1] पर्रिकर के दो बेटे उत्पल और अभिजात हैं। अभिजात गोवा में ही अपना बिजनेस चलाते हैं तो बेटे उत्पल ने अमेरिका से इंजीनियरिंग की डिग्री ली है। पर्रिकर की पत्नी मेधा अब इस दुनिया में नहीं हैं। 2001 में उनकी पत्नी का कैंसर के चलते निधन हो गया था।[2]

राजनीतिक परिचय

आई.आई.टी. की पढ़ाई से गोवा के मुख्‍यमंत्री और रक्षा मंत्री तक का मनोहर पर्रीकर का सफर काफ़ी रोचक रहा। उतार-चढ़ाव वाले इस सफर को पर्रीकर ने अब तक बड़ी समझदारी से पूरा किया है। इनका यह राजनीतिक सफर वर्ष 1994 में शुरु हुआ जब वे गोवा विधानसभा के विधायक चुने गए। 24 अक्टूबर 2000 में वे गोवा के मुख्‍यमंत्री नियुक्‍त हुए और 27 फरवरी 2002 तक अपने इस कार्यभार को संभाला। इसके बाद जून 2002 में वे दोबारा राज्‍य के लिए मुख्‍यमंत्री चुने गए।[1] 29 जनवरी 2005 को उनकी सरकार अल्‍पमत में चली गयी। लेकिन मनोहर पर्रीकर ने बड़ी ही समझदारी से भाजपा के साथ 24 विधानसभा क्षेत्रों को जीत 2012 के विधानसभा चुनावों में वापसी की। वे 8 नवंबर 2014 तक गोवा के मुख्‍यमंत्री रहे। इसके बाद उन्‍होंने केंद्र में एक महत्‍वपूर्ण पद हासिल किया।[1]

व्यक्तित्व

गोवा के वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर पर्रीकर अपनी सादगी के लिए मशहूर हैं। गोवा का सर्वोच्च पद होने के बावजूद पर्रीकर क्षेत्र का दौरा अपने विधायकों के साथ अकसर स्कूटर पर करते हैं। जब वे किसी कार्यक्रम में शरीक भी होते हैं तो वे साधारण वेशभूषा में पहुंचते हैं। पर्रीकर के एक नजदीकी बताते हैं कि एक बार पर्रीकर को एक कार्यक्रम में शरीक होने पांच सितारा होटल जाना था, लेकिन समय पर उनकी गाड़ी खराब हो गई।[2] उन्होंने तत्काल एक टैक्सी बुलवाई और साधारण कपड़े और चप्पल पहने वे होटल पहुंचे। जैसे ही टैक्सी से वे उतरे तो होटल के दरबान ने उन्हें रोका और कहा कि तुम अन्दर नहीं जा सकते। तो पर्रीकर ने दरबान को बताया कि वे गोवा के मुख्यमंत्री हैं, यह सुनकर दरबान ठहाके मारकर हंसने लगा और बोला कि 'तू मुख्यमंत्री है तो मैं देश का राष्ट्रपति हूं।' इतने में कार्यक्रम के आयोजक मौके पर पहुंचे और मामला सुलझाया।[2]

योगदान

संघ में रहते और उनकी काबिलियत को देखते हुए महज 26 साल की उम्र में ही उन्हें गोवा का संघसंचालक बना दिया गया था। राम जन्मभूमि आंदोलन के वक्त भी नॉर्थ गोवा में उन्हें बड़ी जिम्मेदारी दी गई थी। ये पर्रिकर की काबिलियत और सादगी ही थी जिससे प्रभावित होकर मोदी ने उन्हें गोवा से बुलाकर रक्षा मंत्री की जिम्मेदारी सौंपी थी। मोदी पर्रिकर की एडमिनिस्ट्रेटिव और ऑर्गनाइजेशन स्किल के कायल हैं।[2]

निधन

गोवा के सीएम और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर पिछले कई महीनों से अपने कैंसर से परेशान होने के बावजूद गोवा के मुख्यमंत्री का कार्यभार संभाल रहे थे। दिनांक 17 मार्च 2019 की शाम को पहले उनके स्वास्थ ख़राब होने की बात सामने आई, लेकिन थोड़ी देर बाद उनकी मृत्यु की पुष्टि कर दी गई। प


अब तक इन महत्‍वपूर्ण पदों पर रहे मनोहर पर्रीकर

  1. 1988: भाजपा से हाथ मिला राजनीति में लिया प्रवेश।
  2. 1994: पहली बार गोवा राज्‍य की दूसरी विधानसभा के लिए निर्वाचित।
  3. 2001: गोवा में भाजपा के महासचिव व प्रवक्‍ता।
  4. 24 अक्‍टूबर 2000 से 27 फरवरी 2002: राज्‍य के मुख्‍यमंत्री होने के साथ गृह, वित्‍त, शिक्षा और प्रशासन को संभाला
  5. 5 जून 2002: दोबारा गोवा के मुख्‍यमंत्री बने।
  6. जून 2002: गोवा राज्य की चौथी विधान सभा में फिर से निर्वाचित।
  7. जून 2007: गोवा की पांचवीं विधानसभा में फिर से निर्वाचित, बने विपक्ष के नेता।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 1.3 1.4 जानिए, गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रीकर का पूरा राजनीतिक सफर (हिन्दी) jagran.com। अभिगमन तिथि: 21 मार्च, 2017।
  2. 2.0 2.1 2.2 2.3 मनोहर पर्रिकर के जीवन की ‘मनोहर’ कहानियां (हिन्दी) baten.com। अभिगमन तिथि: 21 मार्च, 2017।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

भारतीय राज्यों में पदस्थ मुख्यमंत्री
क्रमांक राज्य मुख्यमंत्री (पार्टी) पदभार ग्रहण
1. अरुणाचल प्रदेश पेमा खांडू (भाजपा) 17 जुलाई 2016
2. असम सर्बानन्द सोनोवाल (भाजपा) 24 मई 2016
3. आंध्र प्रदेश चंद्रबाबू नायडू (तेदेपा) 8 जून 2014
4. उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ (भाजपा) 19 मार्च 2017
5. उत्तराखण्ड त्रिवेंद्र सिंह रावत (भाजपा) 18 मार्च 2017
6. ओडिशा नवीन पटनायक (बीजद) 5 मार्च 2000
7. कर्नाटक सिद्धारमैया (कांग्रेस) 13 मई 2013
8. केरल पिनाराई विजयन (माकपा) 25 मई 2016
9. गुजरात विजय रूपाणी (भाजपा) 7 अगस्त, 2016
10. गोवा मनोहर पर्रीकर (भाजपा) 14 मार्च 2017
11. छत्तीसगढ़ रमन सिंह (भाजपा) 7 दिसम्बर 2003
12. जम्मू-कश्मीर महबूबा मुफ़्ती (जेकेपीडीपी) 4 अप्रैल 2016
13. झारखण्ड रघुवर दास (भाजपा) 28 दिसम्बर, 2014
14. तमिल नाडु के. पलानीस्वामी (अन्ना द्रमुक) 16 फ़रवरी 2017
15. त्रिपुरा बिप्लब कुमार देब (भाजपा) 9 मार्च 2018
16. तेलंगाना के. चन्द्रशेखर राव (तेरास) 2 जून 2014
17. दिल्ली अरविन्द केजरीवाल (आप) 14 फ़रवरी 2015
18. नागालैण्ड नेफियू रियो (एनडीपीपी) 8 मार्च 2018
19. पंजाब अमरिंदर सिंह (कांग्रेस) 16 मार्च 2017
20. पश्चिम बंगाल ममता बनर्जी (तृणमूल कांग्रेस) 20 मई 2011
21. पुदुचेरी वी. नारायणसामी (कांग्रेस) 6 जून 2016
22. बिहार नितीश कुमार (जदयू) 27 जुलाई 2017
23. मणिपुर एन बीरेन सिंह (भाजपा) 15 मार्च 2017
24. मध्य प्रदेश शिवराज सिंह चौहान (भाजपा) 29 नवंबर 2005
25. महाराष्ट्र देवेन्द्र फडणवीस (भाजपा) 31 अक्टूबर 2014
26. मिज़ोरम लल थनहवला (कांग्रेस) 11 दिसंबर 2008
27. मेघालय कॉनराड संगमा (एनपीपी) 6 मार्च, 2018
28. राजस्थान वसुंधरा राजे सिंधिया (भाजपा) 13 दिसंबर 2013
29. सिक्किम पवन कुमार चामलिंग (एसडीएफ) 12 दिसंबर 1994
30. हरियाणा मनोहर लाल खट्टर (भाजपा) 26 अक्टूबर 2014
31. हिमाचल प्रदेश जयराम ठाकुर (भाजपा) 27 दिसंबर 2017

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मनोहर_पर्रीकर&oldid=636433" से लिया गया