अजय नदी  

अजय नदी जमुई ज़िले के 'चकाई' नामक स्थान से लगभग 5 किमी0 दक्षिण में 'बटपाड़' नामक स्थान से निकलती है। इसके बाद पूर्व एवं दक्षिण में प्रवाहित होती हुई पश्चिम बंगाल में प्रवेश करती है और गंगा में विलीन हो जाती है। इस नदी को 'अजमावती' या 'अजमती' के नाम से भी पुकारा जाता है। इस नदी पर कई स्थानों पर छोटे-छोटे बाँध बनाये गये हैं।

  • इस नदी का उदगम क्षेत्र मुंगेर है, जहाँ से प्रवाहित होती हुई यह देवघर ज़िले के उत्तरी-पश्चिमी भाग में प्रवेश करती है।
  • अजय नदी पश्चिम बंगाल, भारत की नदी है, और यह झारखण्ड में भी प्रवाहित होती है।
  • यहाँ से यह नदी दक्षिण-पूर्वी दिशा में बढ़ती हुई प्रवाहित होती है।
  • पश्चिम से आकर इसमें पथरी नदी मिल जाती है।
  • आगे चलकर अजय नदी में जयन्ती नदी आ मिलती है।
  • ये दोनों सहायक नदियाँ हज़ारीबाग़, गिरिडीह ज़िले से निकलती हैं।
  • अजय नदी जामताड़ा ज़िले कजरा के पास प्रवेश करती है, जहाँ यह सीमा बनाती है।
  • गीतगोविंद के विश्रुत कवि जयदेव के निवास-स्थान केंदुबिल्व या वर्तमान केंदुली के निकट बहने वाली नदी है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अजय_नदी&oldid=236501" से लिया गया