उत्तरगा  

  • उत्तरगा रामायण अयोध्या काण्ड[1] में उल्लिखित एक नदी थी।

'वासं कृत्वा सर्वतीर्थे तीर्त्वा चोत्तरगां नदीम्,
अन्यानदीश्च विविधै: पार्वतीयैस्तुरंगमै:'।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. अयोध्या काण्ड 71, 14

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=उत्तरगा&oldid=209451" से लिया गया