ग़यासुद्दीन महमूदशाह  

ग़यासुद्दीन महमूद शाह 'हुसैनशाही वंश' का अंतिम सुल्तान था। इस वंश ने 1493 से 1538 ई. तक शासन किया। ग़यासुद्दीन महमूद शाह सूर वंश के शेरशाह द्वारा पराजित हुआ था।

  • 1533 ई. में ग़यासुद्दीन महमूद शाह बंगाल की गद्दी पर बैठा था।
  • महमूद शाह केवल पाँच वर्ष ही शासन कर पाया था कि वह शेरशाह द्वारा 1538 ई. में 'सूरजगढ़ के युद्ध' में पराजित हुआ।
  • पराजय के फलस्वरूप शेरशाह ने ग़यासुद्दीन महमूद शाह को 13 लाख दीनार देने के लिए बाध्य किया।
  • अपने प्रारम्भिक अभियान में ही शेरशाह ने दिल्ली, आगरा, बंगाल, बिहार तथा पंजाब पर अधिकार कर एक विशाल साम्राज्य की स्थापना की थी।
  • 'सूरजगढ़ के युद्ध' में ग़यासुद्दीन महमूद शाह को हराने के बाद ही शेरशाह ने 1539 ई. में 'चौसा के युद्ध' में हुमायूँ को पराजित किया था।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=ग़यासुद्दीन_महमूदशाह&oldid=497945" से लिया गया