फ़ख़रुद्दीन मुबारक शाह  

फ़ख़रुद्दीन मुबारक़ शाह सुल्तान मुहम्मद तुग़लक़ (1325-51 ई.) के ज़माने में सोनारगाँव, (बंगाल) के सूबेदार बहराम ख़ाँ का 'ज़िरहबख़्तर बरदारी'[1] था।

  • बहराम ख़ाँ को 'तातार ख़ाँ' के नाम से भी जाना जाता था।
  • बहराम खाँ के मरने के पश्चात् उसने स्वयं को सोनारगाँव का शासक नियुक्त कर दिया।
  • शासक नियुक्त होने पर उसने 'फ़ख़रुद्दीन मुबारक़ शाह' की पदवी धारण की।
  • इस प्रकार उसने बंगाल में अपने स्वतंत्र शासन की स्थापना कर दी।
  • फ़ख़रुद्दीन मुबारक़ शाह ने लगभग 10 वर्षों तक शासन किया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

भारतीय इतिहास कोश |लेखक: सच्चिदानन्द भट्टाचार्य |प्रकाशक: उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान |पृष्ठ संख्या: 252 |

  1. उठाने वाला

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=फ़ख़रुद्दीन_मुबारक_शाह&oldid=595786" से लिया गया