भारतकोश के संस्थापक/संपादक के फ़ेसबुक लाइव के लिए यहाँ क्लिक करें।

फ़्रांसिस्को-द-अल्मेडा  

फ़्रांसिस्को-द-अल्मेडा

फ़्रांसिस्को-द-अल्मेडा (अंग्रेज़ी: Francisco de Almeida)1505 ई. में प्रथम पुर्तग़ाली वायसराय बनकर भारत आया तथा 1509ई. तक यहाँ रहा।

  • फ़्रांसिस्को-द-अल्मेडा ने 'सामुद्रिक नीति' (नीले पानी की नीति) को अधिक महत्व दिया।
  • उसने हिन्द महासागर में पुर्तग़ालियों की स्थिति को मज़बूत करने का प्रयत्न किया।
  • 1509 में अल्मेडा ने मिस्र, तुर्की और गुजरात की संयुक्त सेना को पराजित कर 'दीव' पर अधिकार कर लिया।
  • इस सफलता के बाद हिन्द महासागर पुर्तग़ाली सागर के रूप में परिवर्तित हो गया।
  • फ़्रांसिस्को-द-अल्मेडा 1509 ई. तक भारत में रहा था।
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=फ़्रांसिस्को-द-अल्मेडा&oldid=641510" से लिया गया