ककुभग्राम  

  • ककुभग्राम उत्तर प्रदेश राज्य के देवरिया ज़िला में स्थित था।
  • ककुभग्राम में गुप्तवंशीय महार, जाधिराज स्कन्दगुप्त के समय[1] का एक स्तंभ-लेख प्राप्त हुआ था।
  • यह जैन अभिलेख है जिसे भद्र नामक व्यक्ति ने जैन तीर्थंकरों की मूर्तियों की प्रतिष्ठापना के लिए कुकुभग्राम-वर्तमान कहौम में अंकित करवाया था।
  • ये आदिकर्तृ अथवा तीर्थकरों की प्रतिमाएँ अभिलेख वाले स्तंभ पर उकेरी हुई हैं।
  • स्तंभ के निकट एक ताल है जहाँ सात फुट ऊँची बुद्ध की मूर्ति स्थित थी।[2]




टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. गुप्तसंवत् 141-460 ई.
  2. टिपप्णी- ककुभ का पाठ अभिलेख में ककुम भी हो सकता है।
  • ऐतिहासिक स्थानावली | पृष्ठ संख्या= 124| विजयेन्द्र कुमार माथुर | वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=ककुभग्राम&oldid=628987" से लिया गया