चरखारी  

चरखारी हमीरपुर ज़िला, उत्तर प्रदेश में स्थित अंग्रेज़ राज्य के समय में बुंदेलखंड की एक रियासत थी।[1]

  • महाराजा छत्रसाल के पुत्र राजा जगतराज ने अपने तीसरे पुत्र कुमार कीरतसिंह को अपनी जेतपुर की रियासत का उत्तराधिकारी बनाया था, किंतु इसकी मृत्यृ अपने पिता के जीवन काल में ही हो गई।
  • जगतराज की मृत्यु के पश्चात् 1759 ई. में कीरतसिंह के पुत्र गुमानसिंह ने राजगद्दी को प्राप्त करना चाहा, लेकिन उसके चाचा पहाड़सिंह ने इसका विरोध किया।
  • फलस्वरूप गुमानसिंह और उसका भाई खुमानसिंह भागकर चरखारी पहुँचे और वहाँ के क़िले में रहने लगे।
  • इसके पीछे 1764 ई. में पहाड़सिंह ने खुमानसिंह को चरखारी का प्रदेश दे दिया और इस प्रकार इस रियासत की नींव पड़ी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |पृष्ठ संख्या: 328 |
  • ऐतिहासिक स्थानावली | विजयेन्द्र कुमार माथुर | वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=चरखारी&oldid=595746" से लिया गया