बरवासागर  

बरवासागर एक ऐतिहासिक स्थान है। जो झांसी ज़िला, उत्तर प्रदेश से 12 मील दक्षिण-पूर्व की ओर मानिकपुर रेलपथ पर स्थित है। यहाँ एक प्राचीन सरोवर के तट पर तथा उसके आसपास चंदेल राजाओं के समय की अनेक सुन्दर इमारतें हैं।

  • बरवासागर में ओड़छा के राजा उदित सिंह का बनवाया एक दुर्ग भी सरोवर के निकट है।
  • चंदेलनरेशों द्वारा निर्मित एक बहुत ही कलापूर्ण मन्दिर या जरायका मठ भी यहाँ का सुन्दर स्मारक है।
  • मन्दिर की बाह्य भित्तियों पर अनेक प्रकार की मूर्तिकारी तथा अलंकरण प्रदर्शित हैं।
  • वास्तव में चंदेल राजपूतों के काल का यह मंदिर वास्तुकला की दृष्टि से बहुत ही उच्चकोटि का है।
  • मंदिर के अतिरिक्त घुघुजा मठ तथा कई मन्दिरों के अवशेष भी चदेलकालीन वास्तुकला के परिचायक हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

माथुर, विजयेन्द्र कुमार ऐतिहासिक स्थानावली (हिन्दी)। भारत डिस्कवरी पुस्तकालय: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर, पृष्ठ 609।

  • ऐतिहासिक स्थानावली | विजयेन्द्र कुमार माथुर | वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार


टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=बरवासागर&oldid=343880" से लिया गया