पोइक्‍कल कुदीराई अट्टम नृत्य  

पुईकल कुडीराई अट्टम नृत्य

पुईकल कुडीराई अट्टम तमिलनाडु का नकली घोड़ों के साथ किया जाने वाला लोक नृत्य है, जहाँ नृत्‍य करने वाला व्‍यक्ति अपनी कमर की ऊँचाई पर घोड़े के शरीर की आकृति का एक नकली पुतला पहनता है। इसमें हल्‍की सामग्री से बने हुए पुतले होते हैं और इसके नीचे लगे हुए कपड़े नृत्‍य करने वाले व्‍यक्ति के पैरों को ढक लेते हैं। तब नृत्‍य करने वाला व्‍यक्ति नकली पैरों पर चलता है जो घोड़े की पद चाप के समान दिखाई देते हैं। नृत्‍य करने वाले व्‍यक्ति के हाथ में तलवार या चाबूक होता है। इस लोक नृत्‍य को करने के लिए काफ़ी प्रशिक्षण और कौशल की ज़रूरत होती है। इस नृत्‍य में बैंड संगीत या नियंदी मेलम का उपयोग किया जाता है। यह नृत्‍य पुराणिक रूप से अयन्‍नार की पूजा में समर्पित है और आम तौर पर इसे तमिलनाडु के तंजौर के आस पास किया जाता है।

पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=पोइक्‍कल_कुदीराई_अट्टम_नृत्य&oldid=282410" से लिया गया