गुस्साड़ी नृत्य  

गुस्साड़ी नृत्य आंध्र प्रदेश में गोंड जनजाति के लोगों द्वारा किया जाता है। आदिलाबाद जनपद में 'राजगौंड' जनजाति का विशिष्ठ स्थान हैं। इनके द्वारा मनाये जाने वाले उत्सवों में इनकी संस्कृति की स्पष्ट झलक मिलती है।

  • पर्वों एवं किसी विशेष अवसर पर होने वाले नृत्य और गीत आदि को गोंड अत्यधिक महत्त्व देते हैं।
  • गोंडों के नृत्य में 'गुस्साड़ी नृत्य' सर्वाधिक आकर्षक है, जो दशहरे के बाद आरम्भ होता है तथा दीपावली में समाप्त होता है।
  • गुस्साड़ी एक प्रकार का परिधान है, जिसे गाँव के कुछ युवाओं द्वारा धार्मिक एवं सैद्धांतिक रूप से अपने गुरु के राज्याभिषेक पर पन्द्रह दिनों तक धारण किया जाता है।
  • परिधान से सुसज्जित युवा एक ही स्थान पर रहकर और एकाग्र चित से भक्ति में लीन रहते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=गुस्साड़ी_नृत्य&oldid=496598" से लिया गया