असित भट्टाचार्य

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें

असित भट्टाचार्य भारत के महान क्रांतिकारियों में से एक थे।

  • असित प्रारंभ से ही क्रांतिकारी गतिविधियों से जुड़े हुए थे और क्रांति दल के सदस्य थे।
  • 31 मार्च, 1933 को हबीबगंज में एक डकैती हुई, जिसमें असित भट्टाचार्य ने महत्वपूर्ण रूप से भाग लिया। इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और हत्या तथा डकैती के आरोप में मौत की सजा सुनाई गई।
  • 2 जुलाई, 1934 को सिलहट जेल में इस महान सपूत को फांसी पर लटका दिया गया।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. स्वतंत्रता सेनानी कोश (गांधी युगीन), भाग तीन, पृष्ठ संख्या 65

संबंधित लेख