Makhanchor.jpg भारतकोश की ओर से आप सभी को कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ Makhanchor.jpg

गोकुलचन्द नारंग  

गोकुलचन्द नारंग
Blankimage.png
पूरा नाम गोकुलचन्द नारंग
जन्म नवम्बर 1878 ई.
मृत्यु 1960 ई.
कर्म-क्षेत्र स्वंतत्रता सेनानी
शिक्षा पी.एच.डी. और वकालत
विद्यालय पंजाब विश्वविद्यालय, कोलकाता विश्वविद्यालय, ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय
प्रसिद्धि वे हिन्दू महासभा में भी सक्रिय रहे और उसके अखिल भारतीय उपाध्यक्ष थे।
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी गोकुलचन्द नारंग 1920 में पंजाब कौंसिल के सदस्य चुने गये और उनकी यह सदस्य्ता 1946 तक बनी रही।

गोकुलचन्द नारंग आर्यसमाजी नेता जिनका जन्म नवम्बर 1878 ई. में पंजाब के गुज़रांवाला ज़िले [1]में हुआ था। उन्होंने डी.ए.वी. कालेज, लाहौर, पंजाब विश्वविद्यालय और कोलकाता विश्वविद्यालय से शिक्षा पाई। फिर वे उच्च शिक्षा के लिये 1907 में इंग्लैण्ड गये।

  • ऑक्सफोर्ड में पढ़ने के बाद स्विटज़रलैण्ड से पी.एच.डी. और क़ानून की डिग्री लेकर भारत वापस आये।
  • डी.ए.वी.कालेज, लाहौर में 6 वर्ष तक अध्ययन किया।
  • पंजाब के आर्य समाज के अधिकांश नेता राजनीति में भी हिस्सा लेते थे। नारंग भी उसमें रुचि लेने लगे और लाला लाजपत राय आदि से उनकी निकटता हो गई।
  • जलियांवाला बाग़ हत्याकांड की निन्दा करने पर वे गिरफ्तार कर लिये गये थे।
  • गोकुलचन्द नारंग 1920 में पंजाब कौंसिल के सदस्य चुने गये और उनकी यह सदस्य्ता 1946 तक बनी रही। साथ-साथ वे लाहौर हाईकोर्ट मे वकालत भी करते थे।
  • 1930 में उन्हें पंजाब के उद्योग और स्थानीय स्वशासन का मंत्री बनाया गया था।
  • वे आस्ट्रेलिया और कनाडा की भांति स्वायत्त शासन के पक्षपाती थे।
  • कांग्रेस की नीतियों का वे विरोध करते थे।
  • वे हिन्दू महासभा में भी सक्रिय रहे और उसके अखिल भारतीय उपाध्यक्ष थे।
  • उन्होंने अनेक पत्रों का सम्पादन किया।
  • 1947 के बाद वे कांग्रेस की तथाकथित 'मुस्लिम तुष्टीकरण नीति' की कटु आलोचना करते रहे।
  • 1960 में डा. गोकुलचन्द नारंग का देहांत हो गया।[2]



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. अब पाकिस्तान में
  2. शर्मा 'पर्वतीय', लीला धर भारतीय चरित कोश (हिंदी)। भारत डिस्कवरी पुस्तकालय: शिक्षा भारती, कश्मीरी गेट, दिल्ली, 241- 242।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=गोकुलचन्द_नारंग&oldid=529561" से लिया गया