लक्ष्मण वेलिंगकर  

लक्ष्मण वेलिंगकर का जन्म सन 1925 में गोवा के वेलिंग स्थान पर हुआ था। भारत की आज़ादी के लिए संघर्ष करने वाले प्रसिद्ध क्रांतिकारी थे।

  • इन्होंने थोड़ी-बहुत शिक्षा प्राप्त करके उन्होंने दवाई विक्रेता की दुकान पर नौकरी कर ली।
  • वह गोवा राष्ट्रीय क्रांग्रेस के सदस्य थे। अपने प्रदेश को मुक्त कराके शेष भारत के साथ मिलाने के लिए उन्होंने गोपनीय प्रयास भी किए और उसी प्रयास में वह शहीद हुए।
  • पुर्तग़ाल की पुलिस ने गोवा के महान् क्रांतिकारी लक्ष्मण वेलिंगकर को गिरफ्ताकर करके यह जानने का प्रयत्न किया कि उसके साथी कौन-कौन है?
  • लक्ष्मण वेलिंगकर ने अपने किसी भी क्रांतिकारी साथी का नाम बताने से इन्कार कर दिया। उन्हें मारा गया, जगह-जगह उनके शरीर को जलाया गया और चाकू से उसकी चमड़ी काटकर उसमें नमक-मिर्च भरा गया; लेकिन फिर भी अपने किसी साथी को फँसाने के लिए उसका मुँह नहीं खोला। इन यातनाओं का परिणाम यह हुआ कि जेल में उनकी मृत्यु हो गई।[1]



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. लक्ष्मण वेलिंगकर (हिंदी) क्रांति 1857। अभिगमन तिथि: 16 फरवरी, 2017।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=लक्ष्मण_वेलिंगकर&oldid=604457" से लिया गया