जहाँगीरी महल  

जहाँगीरी महल (आगरा)

जहाँगीरी महल आगरा के क़िले में बनी हुई एक महत्त्वपूर्ण इमारत है। ग्वालियर के राजा मानसिंह के महल की नकल कर ‘जहाँगीरी महल’ मुग़ल बादशाह अकबर का सर्वोत्कृष्ट निर्माण कार्य है। क़िले में 'जहाँगीरी महल' सबसे बड़ा आवासीय भवन है। इस भवन में हिन्दू और एशियाई वास्तुकला का बेहतरीन मिश्रण दृष्टिगोचर होता है। यह पत्‍थरों से बना हुआ है और इसकी बाहरी सजावट बहुत ही सादगी वाली है। पत्‍थरों के बड़े कटोरे पर सजावटी पर्शियन पच्‍चीकारी की गई है, जो संभवत: सुगंधित गुलाबजल को रखने के लिए बनाया गया था।

  • 'जहाँगीरी महल' का निर्माण अकबर ने महिलाओं के लिए कराया था।
  • सुन्दरता में बेजोड़ जहाँगीरी महल 249 फुट लम्बा एवं 260 फुट चौड़ा है।
  • इस महल के चारों कोने में 4 बड़ी छतरियाँ हैं। महल में प्रवेश हेतु बनाया गया दरवाज़ा नोंकदार मेहराब का है।
  • महल के मध्य में 17 फुट का आयताकार आँगन बना है।
  • पूर्णतः हिन्दू शैली में बने इस महल में संगमरमर का अल्प प्रयोग किया गया है। कड़ियाँ तथा तोड़े का प्रयोग इसकी विशेषता है।
  • जहाँगीरी महल के सामने लॉन में प्याले के आकार का एक हौज़ निर्मित है, जिस पर फ़ारसी भाषा आयतें खुदी हैं।
  • महल के दाहिनी ओर 'अकबरी महल' का निर्माण हुआ था, जिसके खण्डहरों से निर्माण की योजना का अहसास होता है।
  • 'जहाँगीरी महल' की सुन्दरता का 'अकबरी महल' में अभाव दिखता है।
  • अकबर ने 'जहाँगीर महल' के पास अपनी प्रिय रानी जोधाबाई के लिए एक महल का निर्माण भी कराया था।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

वीथिका

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=जहाँगीरी_महल&oldid=563816" से लिया गया