शुजात ख़ाँ  

शुजात ख़ाँ मुग़ल बादशाह औरंगज़ेब का वीर सेनापति था। उसकी नियुक्ति उत्तर-पश्चिमी सीमांत प्रदेशों पर हुई थी।

  • 1674 ई. में विद्रोही अफ़्रीदियों ने कर्पा दर्रे के पास शुजात ख़ाँ का सेना सहित नाश कर दिया।
  • इस दुर्घटना के उपरांत बादशाह औरंगज़ेब ने पेशावर के निकट अपनी स्थिति पर विशेष ध्यान दिया।
  • शुजात ख़ाँ के वध के बाद औरंगज़ेब ने ऐसी व्यवस्था कर दी कि सीमाओं पर दीर्घकाल तक शांति स्थापित रहे।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=शुजात_ख़ाँ&oldid=326353" से लिया गया