रबिया दुर्रानी  

रबिया दुर्रानी ('रबिया-उल-दौरानी' उर्फ 'दिलरास बानो बेगम') मुग़ल बादशाह औरंगज़ेब की बेगम थी। औरंगज़ेब ने 1637 ई. में रबिया से विवाह किया था। रबिया दुर्रानी की याद में बनवाया गया 'बीबी का मक़बरा' महाराष्ट्र राज्य के औरंगाबाद में स्थित है।

  • रबिया दुर्रानी की मृत्यु कम आयु में ही हो गई थी।
  • बादशाह औरंगज़ेब के पुत्र आजमशाह ने अपनी माँ रबिया दुर्रानी की स्मृति में 'बीबी के मक़बरे' का निर्माण सन 1651 से 1661 के दौरान करवाया था।
  • 'बीबी का मक़बरा' एकबारगी 'ताजमहल' का अहसास कराता है, हालांकि यह उस जैसा भव्य व विशाल नहीं है।
  • मक़बरे के मुख्‍य प्रवेश द्वार पर पाए गए एक अभिलेख में यह उल्‍लेख है कि यह मक़बरा 'अताउल्‍ला' नामक एक वास्‍तुकार और 'हंसपत राय' नामक एक अभियंता द्वारा अभिकल्पित और निर्मित किया गया था।
  • मक़बरे का प्रेरणा स्रोत आगरा का विश्‍व प्रसिद्ध 'ताजमहल' था। यही कारण है कि इसे "दक्‍कन के ताज" के नाम से जाना जाता है।


इन्हें भी देखें: बीबी का मक़बरा एवं औरंगज़ेब


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=रबिया_दुर्रानी&oldid=478935" से लिया गया