तजकिस-ए-हुमायूँ व अकबर  

तजकिस-ए-हुमायूँ व अकबर मुग़ल काल में लिखी गई पुस्तक है, जिसका रचयिता बायजीत बयात था।

  • मुग़ल बादशाह अकबर के हुक्म पर हुमायूँ के सम्बंध में अबुल फ़ज़ल के इस्तेमाल के लिए इस पुस्तक की रचना की गई थी।
  • सन 1545 में हुमायूँ ने बायजीत बयात को बैरम ख़ाँ के साथ दूत बनाकर कामरान के पास भेजा था।
  • हुमायूँ की ईरान की ख़ानगी से इस किताब की रचना प्रारम्भ होती है।
  • इस किताब में भारतीय इतिहास के वीर योद्धा हेमू को ‘हरामजादा काफ़िर’ कहा गया है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=तजकिस-ए-हुमायूँ_व_अकबर&oldid=605874" से लिया गया