अक्कादी  

अक्कादी एक प्राचीन भाषा, जो मेसोपोटामिया में बोली जाती थी। यह अंकन लिपि में लिखी जाने वाली भाषा थी। अक्कादी का यह नाम 'अक्काद' नाम के एक नगर से पड़ा, जो ई. पू. 24वीं सदी में प्रसिद्ध सम्राट शर्रूकीन की राजधानी था। इसके समय में ही अक्कादी को राजभाषा का सम्मान मिला था।

  • 'सुमेर' और 'अक्काद' बेबीलोनिया[1] के दो प्रमुख क्षेत्र थे। इन दोनों की जनता की भाषाई एवं नृवंश शास्त्रीय विभिन्नता को व्यक्त करने एवं दोनों की भाषा एवं नृवंश वर्गों के प्रतिनिधित्व के लिए कालांतर में 'सुमेरियन' एवं 'अकादियन'[2] भाषाओं का प्रचलन हो गया।[3]
  • मेसोपोटामिया क्षेत्र में 3000 ई. पू. तक अक्कादी भाषा बोली जाती थी। कालांतर में नवीन भाषा का विकास होने लगा।
  • मध्य काल में अरब साम्राज्यवाद के विस्तार एवं धर्मांतरण के कारण अक्कादी भाषा-भाषी समुदाय का मूलोच्छेदन हो गया। अत: यह अब एक मृतभाषा हो गई है। यहाँ के निवासी 'सामी भाषा परिवार' की बोलियाँ बोलते हैं, जो वास्तव में अरबी (उत्तरी अरबी) की बोलियाँ हैं।
  • अक्कादी भाषा कीलाक्षरों[4] में लिखी जाती थी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. पश्चिमी एशिया के कतिपय क्षेत्र का प्राचीन नाम, जिस पर रोमन साम्राज्यवादियों का अधिकार था।
  2. 'अकूदी' या 'अक्कादी'
  3. अक्कादी (हिन्दी) भारतखोज। अभिगमन तिथि: 22 अगस्त, 2014।
  4. क्यूनिफार्म लिपि

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः