खासी भाषा  

  • खासी भाषा को 'खसिया', 'कोसयाह' या 'क्यी' भी कहते हैं।
  • मॉन-ख्मेर परिवार की खासी शाखा के कई सदस्यों में से एक, जो अपने आप में ऑस्ट्रो-एशियाई मूल की भाषा है।
  • खासी भाषा भारत के मेघालय राज्य में खासी और जैंतिया पहाड़ियों के आसपास के क्षेत्र में रहने वाले लगभग 9 लाख लोगों द्वारा बोली जाती है।
  • खासी भाषा में भारतीय-आर्य भाषाओं, विशेषकर बांग्ला और हिंदी के कई गृहीत शब्द हैं।[1]



टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. “भाग 2”, भारत ज्ञानकोश, 20।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=खासी_भाषा&oldid=476655" से लिया गया