डंकन जोनाथन  

डंकन जोनाथन ईस्ट इंडिया कम्पनी की सेवा के लिए 1772 ई. में भारत आया था। उसे 1778 ई. में बनारस स्थित रेजीडेण्ट एवं सुपरिण्टेण्डेण्ट बनाया गया था, जहाँ पर डंकन जोनाथन ने प्रशासन का सुधार और शिशुबलि की कुप्रथा का निवारण किया।

  • वर्ष 1795 से 1811 ई. तक डंकन जोनाथन बम्बई का गवर्नर रहा और काठियावाड़ में भी प्रचलित शिशुबलि की कुप्रथा का निवारण किया। इस प्रकार डंकन जोनाथन ने एक महत्त्वपूर्ण सामाजिक सुधार का श्रीगणेश किया।
  • बम्बई के गवर्नर की हैसियत से डंकन जोनाथन ने 'चतुर्थ मैसूर युद्ध' (1799 ई.) और 'द्वितीय मराठा युद्ध' (1803-05 ई.) में महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा की।
  • मिस्र के विरुद्ध बैर्ड के अभियान (1801 ई.) को संगठित करने तथा गुजरात एवं काठियावाड़ में शान्ति स्थापित करने में भी डंकन जोनाथन ने विशेष योगदान दिया था।
  • उसकी क़ब्र पर लगे पत्थर में ठीक ही लिखा है कि वह 'सज्जन' और 'न्यायिक' व्यक्ति था।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=डंकन_जोनाथन&oldid=477817" से लिया गया