इब्राहीम ख़ाँ गार्दी  

  • इब्राहीम ख़ाँ गार्दी एक भाड़े का सैनिक था, जिसे ब्रिटिश सेनाधिकारी ब्रसी ने स्वयं प्रशिक्षित किया था।
  • अपनी योग्यता के बल पर इब्राहीम ख़ाँ शीघ्र ही ब्रिटिश तोपख़ाने का प्रधान हो गया।
  • 1757 ई. में उसने निज़ाम की नौकरी कर ली थी, परन्तु अगले ही साल वह पेशवा की सेवा में महाराष्ट्र चला गया।
  • उसने 1760 ई. में उदगिर की लड़ाई में निज़ाम की फ़ौजों के ख़िलाफ़ मराठों को विजय बनाने में भारी योगदान किया था।
  • गार्दी पानीपत की तासरी लड़ाई में 9000 सिपाहियों तथा 40 तोपों के साथ मराठों की ओर से लड़ा।
  • यद्यपि शुरू में उसने शत्रु की फ़ौजों को पछाड़ दिया, तथापि अन्त में इस युद्ध में मराठों की पराजय हुई।
  • विजयी अफ़ग़ानों द्वारा गार्दी बन्दी बना लिया गया और बाद में उसकी हत्या कर दी गई।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=इब्राहीम_ख़ाँ_गार्दी&oldid=227794" से लिया गया