अश्विनीकुमार क्षेत्र  

  • अश्विनीकुमार क्षेत्र महाभारत अनुशासन पर्व में इस तीर्थ का वर्णन है।
  • प्रसंग से, वेदिकाकुण्ड के निकट इसकी स्थिति मानी जा सकती है।
  • देविका नदी संभवत: पंजाब की देह है।

'देविकायामुपस्पृश्य तथा सुंदरिकाह्रदे, अश्विन्यां रूपवर्चस्कं प्रेत्य वै अभते नर:।'[1]


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. अनुशासन पर्व महाभारत 25, 21

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अश्विनीकुमार_क्षेत्र&oldid=210091" से लिया गया