उछलिया  

उछलिया महाराष्ट्र राज्य की एक जाति है। इस जाति के लोग महाराष्ट्री मिश्रित तेलुगु बोलते हैं। इसी से कुछ विद्वान् इनको मूल तेलुगु प्रांत का मानते हैं। लेकिन इनके रीति रिवाज, मान्यताओं और शारीरिक बनावट से समाजशास्त्री इस निष्कर्ष पर पहुँचे हैं कि ये उत्तर भारत से आए हैं और राजपूतों की संतान हैं।[1]

  • इस जाति के लोगों को 'भामता' या 'गॉठचोर' भी कहा जाता है।
  • बरार, गुजरात और पश्चिम भारत में भी मछलिया जाति के लोग काफ़ी संख्या में मिलते हैं।
  • इस जाति के लोग विभिन्न प्रकार के रूप बनाए सैकड़ों कोस तक लोगों को ठगते घूमते रहते हैं।
  • कहीं पर भी सेंध लगाने या डाका डालने से उछलिया लोग बचते हैं, क्योंकि ऐसा करने पर इन्हें जाति से बहिष्कृत कर दिया जाता है।
  • संतानोत्पत्ति पर ये 'सट्बाई' की पूजा करते हैं और 'मुंडन संस्कार' के समय इनके यहाँ जाति भोज देने का विधान है।
  • उछलिया जाति में 'बाल विवाह' का प्रचलन है और विवाह के समय वर पक्ष की ओर से कन्या पक्ष को 200 से 250 रुपये तक दिए जाते हैं।
  • इस जाति में 'दाह संस्कार' के अंतर्गत मृतकों के शव को जलाया जाता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. उछलिया (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 04 फ़रवरी, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=उछलिया&oldid=609834" से लिया गया