कर्कोटक जाति  

Disamb2.jpg कर्कोटक जाति एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- कर्कोटक (बहुविकल्पी)

'कारस्करान् माहिष्कान् कुरंडान् केरलांस्तथा कर्कोटकान् वीरकांश्च दुर्धर्मांश्च विवर्यजेत्।'[1] अर्थात् कारस्कर, माहिषक, कुरंड, केरल, कर्कोटक और वीरक दूषित धर्म वाले हैं, इसलिए इनसे दूर रहना चाहिए। कर्कोटक नामक नाग जाति का उल्लेख महाभारत की नल दमयंती की कथा में है। यह जाति संभवत: विंध्याचल के घने जंगलों में रहती थी। उन्हीं के निवास स्थान के प्रदेश का नाम कर्कोटक माना जा सकता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  • ऐतिहासिक स्थानावली | पृष्ठ संख्या= 142| विजयेन्द्र कुमार माथुर | वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कर्कोटक_जाति&oldid=629964" से लिया गया