ब्राहुई जाति  

ब्राहुई द्रविड़ प्रजाति के उन समुदायों को कहते हैं, जो बलूचिस्तान, पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान और ईरान आदि में रहते हैं। आर्यों के आगमन से पूर्व लगभग 5000-7000 वर्ष से इसका अस्तित्व माना गया है।

  • ब्राहुई जाति का भारत के उत्तर-‍पश्चिम में मिलना दो सम्भावनाओं को छोड़ जाता है।
  • एक सम्भावना यह कि द्रविड़ उसी दिशा से भारत आए थे, और दूसरी यह कि भारत से द्रविड़ उस दिशा में गए थे।
  • भारत से किसी जाति के बाहर जाने के प्रमाण बहुत कम मिलते हैं, इसलिए पहली सम्भावना ही सच के अधिक क़रीब लगती है।
  • इनकी भाषा तमिल, तेलुगु और मिश्रित द्रविड़ हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=ब्राहुई_जाति&oldid=241804" से लिया गया