एक्स्प्रेशन त्रुटि: अनपेक्षित उद्गार चिन्ह "०"।

अंजुम मौदगिल

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें
अंजुम मौदगिल
अंजुम मौदगिल
पूरा नाम अंजुम मौदगिल
जन्म 5 जनवरी, 1994
जन्म भूमि चंडीगढ़, पंजाब
कर्म भूमि भारत
खेल-क्षेत्र निशानेबाज़ी (ऐयर राइफल)
विद्यालय पंजाब विश्वविद्यालय
पुरस्कार-उपाधि अर्जुन पुरस्कार (2019)
प्रसिद्धि भारतीय महिला निशानेबाज़
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी अंजुम को पेंटिंग करना भी काफी पसंद है। बुद्ध की पेंटिंग में उन्हें महारत हासिल है। उनकी पेंटिंग्स कई लोग खरीदते भी हैं।
अद्यतन‎

अंजुम मौदगिल (अंग्रेज़ी: Anjum Moudgil, जन्म- 5 जनवरी, 1994, चंडीगढ़, पंजाब) भारतीय महिला निशानेबाज़ हैं। उन्होंने महज 24 साल की उम्र में ही वर्ल्ड शूटिंग दूर्नामेंट में सिल्वर मेडल जीता था। इससे पहले भी उन्होंने कई मेडल अपने नाम किए। अंजुम मौदगिल की खासियत यह है कि वह राइफल शूटिंग के तीन अलग-अलग वर्गों में पूरी तरह माहिर हैं। वह 10 मीटर एयर राइफल, 50 मीटर प्रोन और 50 मीटर 3 पोजिशन में अपना दमखम दिखा चुकी हैं। यही खासियत उन्हें और खिलाड़ियों से अलग बनाती है।

परिचय

अंजुम को राष्ट्रीय खेल दिवस पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित कर उनकी हौसला अफजाई की थी। इस अवॉर्ड से वह काफी खुश हैं। अंजुम मौदगिल चंडीगढ़ की रहने वाली हैं। उन्होंने अपनी पढ़ाई डीएवी कॉलेज से पूरी की है। दिलचस्प बात यह है कि यहीं से ओलंपिक पदक विजेता शूटर अभिनव बिंद्रा के साथ कई राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी निकले हैं। अंजुम मौदगिल की मां ने सबसे पहले उनका परिचय राइफल से कराया और उन्हें शूटिंग के लिए प्रेरित किया। इसके बाद अंजुम एनसीसी का हिस्सा बनीं और यहीं पर उन्होंने शूटिंग के गुर सीखे। पिस्टल से शुरू करने के बाद अंजुम को राइफल वर्ग में उतरना पड़ा, क्योंकि पिस्टल उपलब्ध नहीं होती थी। अंजुम ने राष्ट्रीय निशानेबाजी चैंपियनशिप में पंजाब का प्रतिनिधित्व किया और कई मेडल भी जीते।[1]

कॅरियर

अंजुम मौदगिल 10 मीटर राइफल में देश की नंबर वन और वर्ल्ड की नंबर दो खिलाड़ी हैं। पिछले साल दिल्ली में आयोजित 12वीं सरदार सज्जन सिंह सेठी मेमोरियल शूटिंग चैंपियनशिप में अंजुम ने 10 मीटर एयर राइफल में विश्व रिकॉर्ड को तोड़ते हुए नया रिकॉर्ड कायम किया था। अंजुम ने वर्ष 2018 साउथ कोरिया में आयोजित वर्ल्ड चैंपियनशिप में 10 मीटर एयर राइफल के इंडविजुअल और टीम इवेंट में सिल्वर मेडल जीत था। वर्ष 2018 ऑस्ट्रेलिया गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में 50 मीटर थ्री पोजिशन में सिल्वर मेडल और वर्ष 2017 ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन में आयोजित कॉमनवेल्थ शूटिंग चैंपियनशिप में 10 मीटर एयर राइफल में ब्रांज मेडल और 50 मीटर राइफल प्रोन में ब्रांज मेडल जीता था। अंजुम मौदगिल को उनकी शानदार उपलब्धियों के लिए वर्ष 2019 में खेल मंत्रालय की तरफ से अर्जुन अवार्ड दिया गया था।[2]

पेंटिंग

खेल के कारण अंजुम मौदगिल ने अपनी पढ़ाई से समझौता नहीं किया। अंजुम ने स्पोर्ट्स साइकोलॉजी में दाखिला लिया और अपने अति व्यस्ततम शेड‍्यूल के बीच मास्टर्स की डिग्री हासिल की। अंजुम को पेंटिंग करना भी काफी पसंद है। वह अच्छी-खासी पेंटिंग भी कर लेती हैं। उनके बैग में जहां शूटिंग से जुड़ा सामान रहता है, तो साथ ही पेंटिंग ब्रश भी आसानी से मिल जाएगा। अंजुम मौदगिल अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर पेंटिग्स की फोटो लगाती रहती हैं। बुद्ध की पेंटिंग में उन्हें महारत हासिल है। उनकी पेंटिंग्स कई लोग खरीदते भी हैं।

बेहतरीन सफर

  1. साल 2018, साउथ कोरिया के चांगवन में आयोजित आईएसएसएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता।
  2. साल 2018, मैक्सिको में आयोजित इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन (आईएसएसएफ) वर्ल्ड कप में 50 मीटर राइफल 3 पोजीशन प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल जीता।
  3. साल 2018, कॉमनवेल्थ गेम्स में प्रोन इवेंट में सिल्वर मेडल जीता।
  4. साल 2017, ऑस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन में आयोजित कॉमनवेल्थ शूटिंग चैंपियन में ब्रोंज मेडल जीता। इसी प्रतियोगिता में 10 मीटर एयर राइफल में अंजुम ने सिल्वर मेडल जीता।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. मां ने शूटिंग के लिए किया प्रेरित (हिंदी) aparajita.amarujala.com। अभिगमन तिथि: 05 अगस्त, 2021।
  2. चंडीगढ़ की शूटर अंजुम मौदगिल का 50 मी. राइफल थ्री पोजिशन मुकाबला जारी (हिंदी) jagran.com। अभिगमन तिथि: 05 अगस्त, 2021।

संबंधित लेख