एक्स्प्रेशन त्रुटि: अनपेक्षित उद्गार चिन्ह "१"।

पंकज आडवाणी

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें
पंकज आडवाणी
पंकज आडवाणी
पूरा नाम पंकज आडवाणी
जन्म 24 जुलाई, 1985
जन्म भूमि पुणे
अभिभावक पिता- अर्जन आडवाणी, माता- काजल आडवाणी
खेल-क्षेत्र स्नूकर और बिलियर्ड्स
पुरस्कार-उपाधि पद्म श्री, राजीव गांधी खेल रत्न, अर्जुन पुरस्कार
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी पंकज आडवाणी अब तक कुल आठ विश्व ख़िताब जीत चुके हैं।
बाहरी कड़ियाँ आधिकारिक वेबसाइट
अद्यतन‎

पंकज आडवाणी (अंग्रेज़ी: Pankaj Advani, जन्म- 24 जुलाई, 1985, पुणे) स्नूकर और बिलियर्ड्स के विश्व विजेता भारतीय खिलाड़ी हैं। वे अब तक कुल आठ विश्व ख़िताब जीत चुके हैं। पंकज ने पहला पेशेवर बिलियर्ड्स विश्व ख़िताब 2009 में जीता था। इससे पहले वह एमेच्योर विश्व बिलियर्ड्स और स्नूकर चैंपियनशिप जीत चुके थे। पंकज ने 2006 में दोहा में हुए एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था।

जीवन परिचय

24 जुलाई, 1985 को पुणे में जन्मे पंकज ने कुवैत में अपने माता पिता (अर्जन एवं काजल) और बड़े भाई श्री के साथ अपने जीवन के पहले पांच साल बिताए। इनका परिवार ईराक पर आक्रमण के बाद बंगलौर आ गया। पंकज और श्री ने फ्रैंक एंथोनी पब्लिक स्कूल, बंगलौर में अध्ययन किया। बालक पंकज ने दस साल की उम्र में अपने भाई श्री शिष्टाचार के साथ स्नूकर पार्लर गया और घर के क़रीब हर दिन स्कूल के बाद श्री के साथ स्नूकर पार्लर गया।

अंतर्राष्ट्रीय खेल उपलब्धियाँ

  • आईबीएसएफ़ विश्व बिलियर्ड्स ख़िताब 2012
  • एशियन विश्व बिलियर्ड्स ख़िताब (पाँच बार) 2012, 2010, 2009, 2008, 2005
  • पेशेवर विश्व बिलियर्ड्स चैम्पियनशिप ख़िताब 2009
  • आईबीएसएफ़ विश्व बिलियर्ड्स ख़िताब[1] (तीन बार) 2008, 2007, 2005
  • आईबीएसएफ़ विश्व बिलियर्ड्स ख़िताब[2] (दो बार) 2008, 2005
  • आईबीएसएफ़ विश्व स्नूकर ख़िताब 2003
  • स्वर्ण पदक एशियाई खेल ग्वांगझोउ (एकल स्पर्धा) 2010
  • स्वर्ण पदक एशियाई खेल दोहा (एकल स्पर्धा) 2006
  • ऑस्ट्रेलियन ओपन बिलियर्ड्स ख़िताब 2008

सम्मान और पुरस्कार

समाचार

सातवीं बार विश्व बिलियर्ड्स चैम्पियन बने पंकज आडवाणी

29 अक्टूबर, 2012 सोमवार

शीर्ष भारतीय खिलाड़ी पंकज आडवाणी ने फिर अपनी श्रेष्ठता साबित करते हुए इंग्लैंड के मौजूदा चैंपियन और स्थानीय प्रबल दावेदार माइक रसेल को हराकर सातवां वर्ल्ड बिलियर्ड्स चैंपियनशिप ख़िताब अपने नाम किया। पंकज आडवाणी ने अपना दबदबा बनाते हुए 1895-1216 से जीत दर्ज की। सेमीफाइनल में हमवतन ध्रुव सितवाला पर 881-281 की शानदार जीत के बाद आडवाणी ने पांच घंटे तक चले फ़ाइनल मुकाबले के पहले घंटे में ही 298 का स्कोर बना लिया था। पंकज आडवाणी ने 119 के अंतिम ब्रेक से 11 बार के चैंपियन को पराजित कर समय प्रारूप (फॉर्मेट) में अपना चौथा विश्व ख़िताब हासिल किया। पंकज आडवाणी ने इसी स्थान पर 2009 में विश्व पेशेवर बिलियर्ड्स चैंपियनशिप के फ़ाइनल में रसेल को 2030-1253 से हराया था और अब फिर उन्हें हराकर इतिहास दोहराया।

समाचार को विभिन्न स्रोतों पर पढ़ें


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. समय प्रारूप
  2. अंक प्रारूप

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख