एक्स्प्रेशन त्रुटि: अनपेक्षित उद्गार चिन्ह "०"।

सात्विकसाईंराज रंकीरेड्डी

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें
सात्विकसाईंराज रंकीरेड्डी
सात्विकसाईंराज रंकीरेड्डी
पूरा नाम सात्विकसाईंराज रंकीरेड्डी
जन्म 13 अगस्त, 2000
जन्म भूमि अमलापुरम, आंध्र प्रदेश
अभिभावक माता- रंगमणि

पिता- आर. काशीविश्वनाथन

कर्म भूमि भारत
खेल-क्षेत्र बैडमिंटन (पुरुष युगल, मिश्रित युगल)
शिक्षा कॉमर्स स्नातक
विद्यालय आंध्र विश्वविद्यालय
पुरस्कार-उपाधि अर्जुन पुरस्कार, 2020
प्रसिद्धि भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी
नागरिकता भारतीय
संबंधित लेख राष्ट्रमंडल खेल, राष्ट्रमंडल खेल 2022
वर्ल्ड चैम्पियनशिप टोक्यो, 2022 - पुरुष डबल्स - कांस्य पदक
थॉमस कप बैंकॉक, 2022 - पुरुष टीम - स्वर्ण पदक
कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड कोस्ट, 2018 - मिश्रित टीम - स्वर्ण पदक

बर्मिघम, 2022 - पुरुष डबल्स - स्वर्ण पदक
गोल्ड कोस्ट, 2018 - पुरुष डबल्स - रजत पदक
बर्मिघम, 2022 - मिश्रित टीम - रजत पदक

एशियन टीम चैम्पियनशिप हैदराबाद, 2016 - पुरुष टीम - कांस्य पदक

मनीला, 2020 - पुरुष टीम - कांस्य पदक

कद 6 फुट
कोच पुलेला गोपीचंद, टान किम हर
अद्यतन‎

सात्विकसाईंराज रंकीरेड्डी (अंग्रेज़ी: Satwiksairaj Rankireddy, जन्म- 13 अगस्त, 2000) भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। बर्मिघम, इंग्लैंड में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल 2022 में उन्होंने अपने जोड़ीदार चिराग शेट्टी के साथ मिलकर देश के लिये पुरुष डबल्स के फाइनल का स्वर्ण पदक जीता। मेंस डबल के फाइनल में गोल्ड मेडल के लिए कोर्ट पर उतरे सात्विकसाईंराज और चिराग शेट्टी ने शानदार खेल दिखाया। उन्होंने कमाल का प्रदर्शन करते हुए इंग्लैंड के बेन लेन और सेन वेंडी एक भी मौका नहीं दिया। इस स्टार भारतीय जोड़ी ने पहला सेट 21-15 से अपने नाम किया। वहीं दूसरे सेट में उन्होंने इंग्लैंड की जोड़ी को 21-13 मे मात देकर भारत की झोली में एक और स्वर्ण पदक डाल दिया।

परिचय

सात्विकसाईंराज का जन्म 13 अगस्त, 2000 को अमलापुरम, आंध्र प्रदेश में हुआ था। उनके पिता का नाम आर. काशीविश्वनाथन है जो एक शिक्षक हैं। माता का नाम रंगमणि है, वह भी एक शिक्षक हैं। सात्विकसाईंराज पुरुष युगल और मिश्रित युगल स्पर्धाओं में माहिर हैं। उन्होंने अपने पिता से प्रेरणा लेते हुए 6 साल की उम्र में बैडमिंटन खेलना शुरू कर दिया था उनके पिता भी राज्य स्तर के पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी हैं और उनके भाई रामचरण रंकीरेड्डी भी एक पेशेवर बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।

कॅरियर

सात्विकसाईराज को शुरुआती दिनों में उनके पिता ने अमलापुरम के ऑफिसर्स क्लब में प्रशिक्षित किया था। उन्होंने अपने पिता के मार्गदर्शन में विभिन्न क्लब कार्यक्रमों और राज्य एवं जिला स्तरीय चैंपियनशिप में भाग लिया। 11 साल की उम्र में सात्विकसाईराज ने जिला स्तर के टूर्नामेंट में भाग लिया और अंडर-13 श्रेणी में सब-जूनियर स्टेट बैडमिंटन चैंपियनशिप के लिए सीधे प्रवेश प्राप्त करते हुए अपना पहला राज्य चैंपियनशिप जीता। वर्ष 2014 में उन्होंने पुलेला गोपीचंद की सलाह के बाद पेशेवर रूप से प्रशिक्षित होने के लिए हैदराबाद के पुलेला गोपीचंद अकादमी को ज्वाइन किया। अपने करियर के शुरुआती दिनों में सात्विकसाईराज एकल और युगल दोनों खेल में बेहतर थे। इसलिए उन्होंने युगल विशेषज्ञ के रूप में प्रशिक्षण लेने का फैसला किया।[1]

अंडर-17 वर्ग में अपने साथी कृष्ण प्रसाद गरगा के साथ सब-जूनियर नेशनल बैडमिंटन में अपना पहला राष्ट्रीय स्तर का खिताब जीतने के बाद सात्विकसाईराज पहली बार सुर्खियों में आए। सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने कृष्ण प्रसाद गरगा के साथ “एशियाई जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप 2015” में अंडर-17 बॉयज डबल्स में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया। जहां उन्होंने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय स्वर्ण पदक जीता। सात्विकसाईराज ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय खिताब 'टाटा ओपन इंडिया इंटरनेशनल 2015' में जीता, जहां उन्होंने मिश्रित युगल स्पर्धा के लिए कुल्लपल्ली मनीषा के साथ भाग लिया।

साल 2016 सात्विकसाईराज के कॅरियर का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ। जब उन्होंने मॉरीशस इंटरनेशनल सहित इंटरनेशनल चैलेंज सीरीज़ में तीन मिश्रित युगल खिताब और चार युगल खिताब अपने नाम किया। वर्ष 2016 में कोच टान किम हर ने सात्विकसाईराज को चिराग शेट्टी के साथ मेडेन सीनियर नेशनल डबल के लिए प्रेरित किया जो बाद में भारतीय बैडमिंटन की एक प्रभावी जोड़ी के रूप में उभरकर सामने आई। वर्ष 2016 में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी टाटा ओपन इंडिया इंटरनेशनल चैलेंज जीतकर सुर्खियों में आई थी। इसके बाद दोनों ने मॉरीशस इंटरनेशनल, इंडिया इंटरनेशनल सीरीज़, बांग्लादेश इंटरनेशनल और वियतनाम ओपन इंटरनेशनल चैलेंज का ख़िताब अपने नाम किया। सात्विकसाईराज और चिराग शेट्टी ने 2018 के राष्ट्रमंडल खेल का प्रतिनिधित्व किया और ऑस्ट्रेलिया में आयोजित मिश्रित टीम में स्वर्ण पदक जीता। सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने 2018 के राष्ट्रमंडल खेल पुरुष युगल स्पर्धा में भाग लिया और इस आयोजन में रजत पदक जीता।

सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी को उनके बैडमिंटन साथी के साथ बीडब्ल्यूएफ मोस्ट इम्प्रूव्ड प्लेयर ऑफ द ईयर अवार्ड्स, 2018 के लिए नामांकित किया था। उन्होंने अपने कॅरियर की शुरुआत वर्ष 2017 में हैदराबाद हंटर्स टीम के साथ प्रीमियर बैडमिंटन लीग पीबीएल से की। सात्विकसाईराज अपनी टीम के सबसे लोकप्रिय खिलाड़ियों में से एक हैं। वर्ष 2019 में सात्विकसाईराज ने चिराग शेट्टी के साथ मिलकर चीन की विश्व चैंपियन जोड़ी ली जुन्हुई और लियू युचेन को हराया और थाईलैंड ओपन डबल्स का खिताब अपने नाम किया। साथ ही सुपर 500 सीरीज़ का खिताब जीतने वाले पहले भारतीय बैडमिंटन युगल खिलाड़ी बने। जून 2021 में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने पुरुष युगल कैटेगरी में चिराग शेट्टी के साथ 2020 के टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया। 30 जून, 2021 को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी ने सात्विकसाईराज रैंकीरेड्डी को 2020 टोक्यो ओलंपिक में क्वालिफिई के लिए बधाई देते हुए सम्मानित किया था।[1]

'इंडिया ओपन 2022' के विजेता

चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज की जोड़ी ने 'इंडिया ओपन 2022' के पुरुष युगल फाइनल में धमाल मचा दिया था। दोनों ने विश्व चैंपियन मोहम्मद अहसन और हेंड्रा सेतियावान की इंडोनेशियाई जोड़ी को सीधे गेम में हराकर खिताब अपने नाम किया था। विश्व रैंकिंग में 10वें स्थान पर काबिज इस भारतीय जोड़ी ने 43 मिनट में 21-16, 26-24 से खिताबी मुकाबला जीतकर इतिहास रचा। इंडियन ओपन के इतिहास में ऐसी पहली बार हुआ कि जब पहली बार किसी भारतीय जोड़ी ने युगल खिताब जीता था। चिराग और सात्विकसाईराज ने दुनिया की 10वें नंबर की जोड़ी विलियम विलेगर और फैबियन डेलरू को धूल चटाकर फाइनल में एंट्री की थी। दोनों ने फ्रांस की जोड़ी को 21-10 21-18 से हराया था। भारतीय जोड़ी ने इससे पहले 2019 में थाईलैंड में अपना पहला सुपर 500 टूर्नामेंट जीता था। इस मैच से पहले इंडोनेशिया की इस जोड़ी के खिलाफ सात्विक और चिराग चार मुकाबलों में सिर्फ एक जीत दर्ज कर सके थे।

पदक

स्वर्ण पदक
  • वर्ष 2016 में मॉरीशस में आयोजित इंटरनेशनल पुरुष डबल्स।
  • वर्ष 2016 में भारत में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सीरीज पुरुष युगल में।
  • वर्ष 2016 में भारत में आयोजित टाटा ओपन इंडिया इंटरनेशनल पुरुष डबल्स।
  • वर्ष 2016 में बांग्लादेश के ढाका में आयोजित इंटरनेशनल पुरुष डबल्स।
  • वर्ष 2016 में मॉरीशस में आयोजित इंटरनेशनल मिश्रित डबल्स।
  • वर्ष 2016 में भारत में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सीरीज मिश्रित युगल।
  • वर्ष 2016 में बांग्लादेश के ढाका में आयोजित इंटरनेशनल मिश्रित डबल्स।
  • वर्ष 2018 में ऑस्ट्रेलिया में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल पुरुष युगल गोल्ड कोस्ट में।
रजत मेडल
  • वर्ष 2018 में ऑस्ट्रेलिया में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल मिश्रित टीम गोल्ड कोस्ट।
कांस्य पदक
  • वर्ष 2016 में चीन में आयोजित बैडमिंटन एशिया चैम्पियनशिप मिश्रित टीम।
  • वर्ष 2020 में मनीला में आयोजित बैडमिंटन एशिया चैम्पियनशिप पुरुष टीम में।

पुरस्कार


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी जीवन परिचय (हिंदी) hindi.starsunfolded.com। अभिगमन तिथि: 10 सितंबर, 2021।

संबंधित लेख