श्रीजा अकुला

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें
श्रीजा अकुला
श्रीजा अकुला
पूरा नाम श्रीजा अकुला
जन्म 31 जुलाई, 1998
जन्म भूमि हैदराबाद
अभिभावक पिता- प्रवीण अकुला
कर्म भूमि भारत
खेल-क्षेत्र टेबल टेनिस
प्रसिद्धि भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी
नागरिकता भारतीय
संबंधित लेख राष्ट्रमंडल खेल, राष्ट्रमंडल खेल 2022
कॉमनवेल्थ गेम्स बर्मिघम, 2022 - मिश्रित डबल्स - स्वर्ण पदक
कोच सोमनाथ घोष
अन्य जानकारी श्रीजा अकुला ने साल 2013 में साल्वाडोर में जूनियर खिताब जीता था और कैडेट ओपन में भी जूनियर चैंपियन बनीं। वह छोटी उम्र से ही लगातार अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में खेलती रही हैं।
अद्यतन‎

श्रीजा अकुला (अंग्रेज़ी: Sreeja Akula, जन्म- 31 जुलाई, 1998, हैदराबाद) भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं। उन्होंने दुनिया भर में कई अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में भारत का प्रतिनिधित्व किया और कई पदक जीते हैं। उन्होंने भारत को अलग-अलग वैश्विक टूर्नामेंट में 14 स्वर्ण, 4 रजत और 9 कांस्य पदक दिलाए हैं। राष्ट्रमंडल खेल 2022 श्रीजा अकुला के लिए सबसे अहम रहे, क्योंकि उन्होंने जो सबक यहां सीखा, उसका फायदा उन्हें भावी कॅरियर में मिलेगा। श्रीजा अकुला ने अचंत शरत कमल के साथ मिलकर राष्ट्रमंडल खेल 2022 के मिश्रित डबल्स में देश के लिये स्वर्ण पदक जीता जबकि एकल मुकाबला वह हार गईं।

परिचय

31 जुलाई, 1998 को हैदराबाद में जन्मीं श्रीजा अकुला सिर्फ टेबल टेनिस में ही अच्छी नहीं हैं बल्कि स्कूल की भी टॉपर रह चुकी हैं। साल 2017 में श्रीजा ने 12वीं कक्षा की परीक्षाओं में 96 फीसदी अंक हासिल किए थे और परिणाम आने के कुछ ही दिन बाद श्रीजा अकुला वर्ल्ड टूर इंडिया ओपन के अंडर-21 वर्ग के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई थीं।

टेबल टेनिस की शुरुआत

बचपन से ही टेबल टेनिस की तरफ झुकाव रखने वाली श्रीजा अकुला ने अपनी बड़ी बहन रवाली को टेबल टेनिस खेलते देखा और उनके कदमों पर चलने लगीं। श्रीजा के कोच पूर्व राष्ट्रीय खिलाड़ी सोमनाथ घोष हैं। श्रीजा ने साल 2013 में एल साल्वाडोर में जूनियर खिताब जीता और कैडेट ओपन में भी जूनियर चैंपियन बनीं। वह छोटी उम्र से ही लगातार अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में भाग लेकर अनुभव हासिल करती आई हैं। उनके प्रदर्शन के कारण ही एशियन टेबल टेनिस यूनियन की ओर से उन्हें विशेष स्कॉलरशिप भी मिली जिसके तहत एशिया के तीन युवा खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर की ट्रेनिंग मिलती है। श्रीजा अकुला के पिता प्रवीण अकुला भी खुद यह गेम खेल चुके हैं।[1]

राष्ट्रमंडल खेल, 2022

भारत की श्रीजा अकुला को राष्ट्रमंडल खेलों (2022) की टेबल टेनिस स्पर्धा के एकल मुकाबले में कांस्य पदक प्लेऑफ में ऑस्ट्रेलिया की यांग्जी लियू से 3-4 से हार का सामना करना पड़ा। श्रीजा अकुला डेढ़ घंटे से ज्यादा चले मुकाबले में वापसी करने के बावजूद 11-3 6-11 2-11 11-7 13-15 11-9 7-11 से हार गयीं। श्रीजा अकुला ने लियू के खिलाफ अच्छी शुरूआत कर पहला गेम 11-3 से जीत लिया लेकिन ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने वापसी करते हुए आक्रामकता दिखायी और दूसरे गेम को 11-6 से जीतकर बराबरी पर आ गयी और तीसरा गेम भी 11-2 से जीतकर बढ़त बना ली। इस पर भी श्रीजा अकुला ने हार नहीं मानने का जज्बा दिखाते हुए चौथा गेम 11-7 से जीत लिया।[2]

अब दोनों 2-2 की बराबरी पर थीं लेकिन लियू पांचवें गेम में 15-13 से जीतकर बढ़त बनाने में कामयाब रहीं। छठे गेम में श्रीजा अकुला ने अपनी ‘क्लास’ दिखायी और 1-7 से पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए इसे 11-9 से जीत लिया। लेकिन निर्णायक गेम में वापसी के बावजूद श्रीजा हार गयीं। उन्होंने 1-6 से पिछड़ने के बाद इसे 5-8 कर दिया था, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने कांस्य पदक जीत लिया।

बर्मिंघम, इंग्लैंड में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल 2022 में श्रीजा अकुला ने अनुभवी अचंत शरत कमल के साथ मिलकर मिश्रित डबल्स में हिस्सा लिया और फाइनल तक का सफर तय करके भारत के लिये स्वर्ण पदक जीता, हालांकि उनके पास एकल मुकाबले में भी कांस्य जीतने का मौका था, जिसे वे हासिल नहीं कर सकीं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख