हिन्दी सिनेमा  

हिन्दी सिनेमा, जिसे 'बॉलीवुड' के नाम से जाना जाता है, हिन्दी भाषा में फ़िल्म बनाने का फ़िल्म उद्योग है। बॉलीवुड नाम अंग्रेज़ी सिनेमा उद्योग हॉलीवुड के तर्ज़ पर रखा गया। हिन्दी फ़िल्म उद्योग मुख्यतः मुम्बई शहर में बसा है। ये फ़िल्में भारत, पाकिस्तान, और दुनिया के कई देशों के लोगों के दिलों की धड़कन हैं। हर फ़िल्म में कई संगीतमय गाने होते हैं। इन फ़िल्मों में हिन्दी की "हिन्दुस्तानी" शैली का चलन है। हिन्दी, खड़ीबोली और उर्दू के साथ साथ अवधी, मुम्बईया हिन्दी, भोजपुरी, राजस्थानी जैसी बोलियाँ भी संवाद और गानों मे उपयुक्त होते हैं। प्यार, देशभक्ति, परिवार, अपराध, भय, इत्यादि मुख्य विषय होते हैं। ज़्यादातर गाने उर्दू शायरी पर आधारित होते हैं।

इतिहास

1904 में मणि सेठना ने भारत का पहला सिनेमाघर बनाया, जो विशेष रूप से फ़िल्मों के प्रदर्शन के लिए ही बनाया गया था। इसमें नियमित फ़िल्मों का प्रदर्शन होने लगा। उसमें सबसे पहले विदेश से आयी दो भागों मे बनी फ़िल्म ‘द लाइफ आफ क्राइस्ट’ प्रदर्शित की गयी। यही वह फ़िल्म थी जिसने भारतीय सिनेमा के पितामह दादा साहब फाल्के को भारत में सिनेमा की नींव रखने को प्रेरित किया। हालांकि स्वर्गीय दादा साहब फाल्के को भारतीय सिनेमा का जनक होने और पूरी लंबाई के कथाचित्र बनाने का गौरव हासिल है लेकिन उनसे पहले भी महाराष्ट्र में फ़िल्म निर्माण के कई प्रयास हुए। लुमीयर बंधुओं की फ़िल्मों के प्रदर्शन के एक वर्ष के भीतर सखाराम भाटवाडेकर उर्फ सवे दादा ने फ़िल्म बनाने की कोशिश की। उन्होंने पुंडलीक और कृष्ण नाहवी के बीच कुश्ती फ़िल्मायी थी। यह कुश्ती इसी उद्देश्य से विशेष रूप से बंबई के हैंगिंग गार्डन में आयोजित की गयी थी। शूटिंग के बाद फ़िल्म को प्रोसेसिंग के लिए इंग्लैंड भेजा गया। वहां से जब वह फ़िल्म प्रोसेस होकर आयी तो सवे दादा अपने काम का नतीजा देख कर बहुत खुश हुए। पहली बार यह फ़िल्म रात के वक्त बंबई के खुले मैदान में दिखायी गयी। उसके बाद उन्होंने अपनी यह फ़िल्म पेरी थिएटर में प्रदर्शित की। टिकट की दर थी आठ आना से लेकर तीन रुपये तक। अक्सर हर शो में उनको 300 रुपये तक मिल जाते थे।[1]

पहली फ़िल्म

फ़िल्म आलम आरा का पोस्टर

दादा साहेब फाल्के द्वारा 1913 में बनाई गई 'राजा हरिश्चंद्र' हिन्दी सिनेमा की पहली फ़िल्म थी। फ़िल्म काफ़ी जल्द ही भारत में लोकप्रिय हो गई और वर्ष 1930 तक लगभग 200 फ़िल्में प्रतिवर्ष बन रही थी।

पहली सवाक फ़िल्म

आलम आरा भारत की पहली सवाक (बोलती) फ़िल्म थी जो अर्देशिर ईरानी ने सन 1931 में बनाई। आलम आरा से पहले सभी फ़िल्में अवाक (आवाज़ नहीं) थीं। यह फ़िल्म काफ़ी ज्यादा लोकप्रिय रही। जल्द ही सारी फ़िल्में, बोलती फ़िल्में थी।
आने वाले वर्षो में भारत में स्वतंत्रता संग्राम, देश विभाजन जैसी ऐतिहासिक घटना हुई। उन दरमान बनी हिंदी फ़िल्मों में इसका प्रभाव छाया रहा। 1950 के दशक में हिंदी फ़िल्में श्वेत-श्याम (ब्लैक & व्हाइट) से रंगीन हो गई। फ़िल्में के विषय मुख्यतः प्रेम होता था, और संगीत फ़िल्मों का मुख्य अंग होता था। 1960-70 के दशक की फ़िल्मों में हिंसा का प्रभाव रहा। 1980 और 1990 के दशक से प्रेम आधारित फ़िल्में वापस लोकप्रिय होने लगी। 1990-2000 के दशक मे समय की बनी फ़िल्में भारत के बाहर भी काफ़ी लोकप्रिय रही। प्रवासी भारतीयो की बढती संख्या भी इसका प्रमुख कारण थी। हिंदी फ़िल्मों में प्रवासी भारतीयो के विषय लोकप्रिय रहे।

बॉलीवुड की यादगार फ़िल्में
प्रमुख निर्माता-निर्देशक
प्रमुख अभिनेता
प्रमुख अभिनेत्री

यादगार फ़िल्में

प्रसिद्ध बॉलीवुड फ़िल्में
Raja Harishchandra.jpg Alam-Ara-Poster.jpg Kisan-kanya.jpg Pyaasa poster.jpg Devdas.jpg Do-Aankhen-Barah-Haath-2.jpg Do-bigha-zameen.jpg Naya-Daur.jpg Mother-India.jpg Mughal-E-Azam-1.jpg Sholay-Movie.jpg Deevaar.jpg Hunterwali-1935.jpg Garm-Hava.jpg Devdas(1955).jpg सत्यकाम.jpg Andaz (1949 film) poster.jpg Jagte-Raho-1956.jpg Anand (1971).jpg

प्रसिद्ध अभिनेता

प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेता
Dilip-kumar-01.jpg Amitabh-Bachchan-2.jpg Ashok Kumar.jpg Raj-Kapoor.jpg Rajesh Khanna.jpg Dharmendra.jpg Guru-Dutt.jpg Rajendra-kumar.jpg Devanand-2.jpg Sohrab-modi-2.jpg Bhagwan-Dada.jpg Balraj-Sahni.jpg Sunil-Dutt.jpg Amrish-Puri.jpg Naseeruddin-Shah.jpg Pran-1.jpg Sanjeev kumar.jpg Joy-Mukherjee.jpg Om-praksh.jpg Amol-palekar.jpg Mahmood-2.jpg

प्रसिद्ध अभिनेत्री

प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेत्री
Waheeda-Rehman-1.jpg Meena-kumari-1.jpg Nargis-Dutt.jpg Madhubala-1.jpg Nadira.jpg Asha-Parekh.jpg Saira-banu.jpg Sulochana.jpg Smita-Patil.jpg Devika-Rani.jpg Vaijayanti-Mala.jpg Jaya 5.jpg Nutan.jpg Durga-khote-3.jpg Sharmila-Tagore.jpg Hema-Malini.jpg Mumtaz.jpg Mala-sinha.jpg Parveen-Babi.jpg Madhuri-Dixit.jpg Aishwarya rai 01.jpg

फ़िल्म निर्माता-निर्देशक

प्रसिद्ध निर्माता-निर्देशक
Dada-Saheb-Phalke.jpg Satyajit-Ray.jpg Bimal-roy.jpg V-Shantaram.jpg Hrishikesh-mukherjee.jpg Kamal-amrohi.jpg Tapan-sinha.jpg Mrinal-sen.jpg Guru-Dutt.jpg D-Ramanaidu.jpg Shyam Benegal.jpg K.Balachander.jpg Mehboob-Khan.jpg B.R.-Chopra.jpg Yash-chopra-.jpg Chetan-Anand-film-director.jpg Manoj Kumar.jpg K.asif.jpg Ramanand sagar.jpg

गायक एवं गायिकाएँ

प्रसिद्ध गायक एवं गायिकाएँ
Hemant-Kumar.jpg Kishor-Kumar.png Lata-Mangeshkar.jpg Asha-Bhosle.jpg Mahendra-Kapoor.jpg Mukesh.jpg Mohd.Rafi.jpg Bhupen Hazarika.jpg S.D. Burman.jpg Manna Dey.jpg K.L.Saigal.jpg Talat-Mahmood.jpg Shamshad-Begum.jpg Begum-akhtar.jpg Suraiya.jpg Geeta-dutt.jpg


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. त्रिपाठी, राजेश। हिंदी सिनेमा का इतिहास (हिन्दी) सिनेमा जगत (ब्लॉग)। अभिगमन तिथि: 10 नवम्बर, 2012।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=हिन्दी_सिनेमा&oldid=331063" से लिया गया