मिंगन्ती  

मिंगन्ती चीन के प्रारम्भिक हान वंश का एक महान् सम्राट (58-75 ई.) था। सम्राट मिंगन्ती ने 62 ई. में अपने राजदूत भारत भेजे थे। वह चीन का प्रथम सम्राट था, जिसने सबसे पहले चीन में महात्मा बुद्ध द्वारा प्रवर्तित बौद्ध धर्म का प्रचार-प्रसार किया था।

  • मिंगन्ती ने 62 ई. में स्वप्न में भगबान बुद्ध का दर्शन किया था।
  • इसी के फलस्वरूप उसने बुद्ध तथा उनके धर्म के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए राजदूत भारत भेजे।
  • उसके राजदूत कुछ बौद्ध ग्रन्थ, मूर्तियाँ तथा भारतीय बौद्ध भिक्षुओं-'काश्यप भातंग' तथा 'गोवर्धन' को लेकर चीन वापस लौटे।
  • बाद के दिनों में काश्यप भातंग तथा गोवर्धन दोनों भारतीय भिक्षु चीन में ही बस गये।
  • उन्होंने कुछ बौद्ध ग्रन्थों का चीनी भाषा में अनुवाद किया तथा कुछ चीनियों को बौद्ध धर्म में दीक्षित किया।
  • इस प्रकार सम्राट मिंगन्ती ने ही सबसे पहले चीन में बौद्ध धर्म का प्रवेश कराया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

भारतीय इतिहास कोश |लेखक: सच्चिदानन्द भट्टाचार्य |प्रकाशक: उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान |पृष्ठ संख्या: 362 |


टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मिंगन्ती&oldid=604279" से लिया गया