मनुभाई पाँचोली  

मनुभाई पाँचोली

मनुभाई पाँचोली (अंग्रेज़ी: Manubhai Pancholi, जन्म- 15 अक्टूबर, 1914; मृत्यु- 29 अगस्त, 2001) गुजराती भाषा के उपन्यासकार, लेखक, शिक्षाविद और राजनीतिज्ञ थे। उन्हें 'सरस्वती सम्मान' से सम्मानित किया गया था। मनुभाई पाँचोली अपने उपनाम 'दर्शक' से भी जाने जाते हैं।

  • मनुभाई पाँचोली द्वारा रचित एक उपन्यास 'साक्रेटीज़' के लिये उन्हें सन 1975 में 'साहित्य अकादमी पुरस्कार (गुजराती)' से सम्मानित किया गया था।
  • सन 1987 में उन्हें अपनी गुजराती कृति 'ज़ीर ते पिढा छे जानी जानी' के लिये मूर्ति देवी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में भी भाग लिया और स्वतंत्रता के बाद कई कार्यालयों का संचालन किया।
  • मनुभाई पाँचोली को गुजराती साहित्य में सबसे महान उपन्यासकारों में से एक माना जाता है।
  • उन्हें महात्मा गांधी ने बहुत प्रभावित किया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मनुभाई_पाँचोली&oldid=659253" से लिया गया