अपरदन  

अपरदन (Erosion) उस प्राकृतिक प्रक्रिया को कहा जाता है, जिसमें मिट्टी की ऊपरी परत जल या वायु के तेज़ बहाव के कारण उड़ जाती है।

  • प्राकृतिक कारणों से पृथ्वी के पृष्ठ के कुछ अंशों के स्थानांतरण को 'अपरदन' कहते हैं। इसका कारण ताप का परिवर्तन, वायु, जल तथा हिम हैं। इनमें जल मुख्य है।
  • अपरदन उन लोगों के लिए एक गंभीर समस्या है, जो फ़सल उगाना चाहते हैं।
  • जब भू-क्षरण होता है तो फ़सल अच्छी नहीं होती, क्योंकि इसके कारण मिट्टी की उपजाऊ ऊपरी परत उड़ या बह जाती है।
  • भू-क्षरण से न केवल खेती करने के काम में परेशानी आती है, बल्कि अन्य समस्याएं भी इसके कारण हो सकतीं हैं, जैसे- भूमि पर बड़े-बड़े गड्ढे हो जाना, जिनके कारण किसी भवन की नींव निर्बल हो सकती है और भवन ढह तक सकता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अपरदन&oldid=525182" से लिया गया