चोस  

चोस पंजाब में शिवालिक पहाड़ियों से जुड़े हुए मैदान ऊपरी भाग में स्थित नदियों के जाल को कहते हैं।

  • इन चोस द्वारा काफ़ी अपरदन किया गया है, जिसके कारण यहाँ काफ़ी खड्डों का निर्माण हो गया है।
  • प्रत्येक बाढ़ के बाद चोस द्वारा जमा की गयी वालुका राशि व्यवस्थित एवं पुनव्र्यवस्थ्ज्ञित होती रहती है तथा नदियों के कगार के अधिक अस्थायी होने के कारण उनका मार्ग भी हमेशा परिवर्तित होता रहता है।
  • चोस अपनदन के स्पष्ट उदाहरण होशियारपुर में पाये जाते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=चोस&oldid=502442" से लिया गया