कैनोपी  

कैनोपी

कैनोपी (अंग्रेज़ी:Canopy) वर्षावन में पाये जाने वाले पेड़ों की घनी पत्तियों के जाल को कहा जाता है, जिसमें कई प्रकार के जीव-जंतु आश्रय प्राप्त करते हैं। वर्षावन में अधिकांश जीवन वन के धरातल पर नहीं पाया जाता, बल्कि पेङों की पत्तियों के घने जाल में पाया जाता है, जो कैनोपी कहलाता है। कैनोपी वर्षावन की कई उर्ध्व परतों में से एक है।

जीवों का निवास स्थान

कैनोपी, जो भूतल से 100 फीट उपर हो सकता है, वर्षावन के पेङों की शाखाओं और पत्तियों के आच्छादन से बनता है। वैज्ञानिकों का अनुमान है कि वर्षावन में पाया जाने वाला 70-90 प्रतिशत जीवन पेङों पर पाया जाता है, जो पौधे और जीव-जन्तुओं के जीवन के लिये उत्तम आवास बनता है। कई जाने माने जीव-जन्तु, जैसे बन्दर, मेंढक, छिपकलियाँ, पक्षी, साँप, स्लाथ और छोटी बिल्लियाँ कैनोपी में पाये जाते हैं।

कैनोपी

कैनोपी का वातावरण वन के धरातल के वातावरण से बहुत अलग होता है। दिन के दौरान कैनोपी वन के अन्य भागों की तुलना में शुष्क और गर्म होता है और यहाँ पर रहने वाले जीव-जन्तु वृक्षों के जीवन के लिये विशेष रूप से अनूकुलित होते हैं। उदाहरण के लिये कैनोपी में पत्तियों की मात्रा इतनी अधिक होती है कि कुछ फीट से अधिक दूरी दिखायी नहीं देती है। अधिकांश जीव-जन्तु संचार के लिये उँची आवाज़ या संगीत का उपयोग करते हैं। पेड़ों के बीच के स्थानों में से कुछ जानवर उड़ सकते हैं, इधर उधर घूम सकते हैं, या कूद कर वृक्षों के शीर्ष पर जा सकते हैं।

वैज्ञानिक अध्ययन

वैज्ञानिक लम्बे समय से कैनोपी के अध्ययन में रुचि ले रहे हैं लेकिन वर्षावन वृक्षों की उंचाई के कारण इनका अनुसंधान हमेशा से कठिन बना रहा है। वर्तमान में विशेष सुविधायें हैं, जैसे रस्सियाँ, सीढ़ियाँ और टावर, जो कैनोपी के रहस्यों को जानने में वैज्ञानिकों की मदद करते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कैनोपी&oldid=545690" से लिया गया