प्रसुप्त ज्वालामुखी  

प्रसुप्त ज्वालामुखी

प्रसुप्त ज्वालामुखी से अभिप्राय है कि, ऐसा ज्वालामुखी जिसमें निकट अतीत में कोई उद्गार नहीं हुआ है, लेकिन इसमें कभी भी अचानक उद्गार हो सकता है।

  • इस तरह के ज्वालामुखी प्राय: शान्त अवस्था में पड़े रहते हैं।
  • ये ज्वालामुखी अन्दर ही अन्दर क्रियाशील रहते हैं।
  • इनमें विस्फोट निकट भविष्य में कभी भी अचानक हो जाता है।
  • इसके उदाहरण हैं-'विसुवियस' (भूमध्य सागर), 'क्राकाटोवा' (संडा जलडमरुमध्य), 'फ्यूजीयामा' (जापान), 'मेयन' (फ़िलिपीन्स)।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=प्रसुप्त_ज्वालामुखी&oldid=520855" से लिया गया