देशान्तर  

देशान्तर ग्लोब पर उत्तर से दक्षिण की ओर खींची जाने वाली काल्पनिक रेखाएँ है। ये रेखाएँ समानान्तर नहीं होती हैं। पृथ्वी के बीचो-बीच 0 डिग्री पर खींची गई ये रेखाएँ 'मध्याह्न रेखा' या 'ग्रीनविच रेखा' कहलाती हैं। दुनिया का मानक समय भी इसी रेखा से निर्धारित किया जाता है।

  • एक देशान्तर का अन्तर होने पर समय में 4 मिनट का अन्तर होता है। चूंकि पृथ्वी पश्चिम से पूरब की ओर घूमती है। फलतः पूरब की ओर बढ़ने पर प्रत्येक देशान्तर पर समय 4 मिनट बढ़ता जाता है तथा पश्चिम में जाने पर प्रत्येक देशान्तर पर समय 4 मिनट घटता जाता है।
  • देशान्तर रेखाएँ उत्तरी तथा दक्षिणी ध्रुव पर एक बिन्दु पर मिल जाती हैं।
  • ध्रुवों से विषुवत रेखा की ओर बढ़ने पर देशान्तरों के बीच की दूरी बढ़ती जाती है।
  • विषुवत रेखा पर इनके बीच की दूरी अधिकतम (111.32 किमी.) होती है।
  • इनकी कुल संख्या 360 है। इंग्लैण्ड के ग्रीनविच नामक स्थान से गुजरने वाली देशान्तर को ‘प्रधान देशान्तर’ या 00 देशान्तर माना गया है।
  • इसकी बायीं की ओर की रेखाएँ पश्चिमी देशान्तर और दाहिनी ओर की रेखाएँ पूर्वी देशान्तर कहलाती हैं।
  • देशान्तर के आधार पर ही किसी स्थान का समय ज्ञात किया जाता है।
  • दो देशान्तर रेखाओं के बीच की दूरी 'गोरे' नाम से जानी जाती है।
  • दुनिया का मानक समय भी इसी रेखा से निर्धारित किया जाता है।
  • लन्दन का शहर 'ग्रीनविच' इसी रेखा पर स्थित है, इसलिय इसे ग्रीनविच रेखा कहते है।
  • इन देशंतर रेखाओं को मध्यान्तर रेखाएं भी कहा जाता है क्योंकि एक रेखा पर स्थिति सभी स्थानों पर मध्यान्ह्न या दोपहर एक ही समय पर होता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=देशान्तर&oldid=272467" से लिया गया