अलाय वादी  

अलाय वादी एक चौड़ी और शुष्क वादी है, जो मध्य में किर्गिज़स्तान के ओश प्रदेश के दक्षिणी भाग में स्थित है। यह वादी पूर्व से पश्चिम की ओर विस्तृत है। यहाँ की कठिन परिस्थितियाँ मानव बसावट के लिए काफ़ी मुश्किल भरी हैं।

  • यह घाटी पूर्व-पश्चिम दिशा में 180 कि.मी. लम्बी और उत्तर-दक्षिण दिशा में 40 कि.मी. चौड़ी है। इसकी औसत ऊँचाई लगभग 2500-3000 मीटर है।
  • अलाय वादी के उत्तर में अलाय पर्वत हैं, जिनकी ढलानें फ़रग़ना घाटी पर अंत होती हैं।
  • इस वादी के दक्षिण में अलाय-पार पर्वत है, जो ताजिकिस्तान के साथ लगी सरहद पर स्थित है।
  • पूर्व में ताउनमुरुन दर्रा स्थित है, जहाँ से चीन की सरहद पर स्थित इरकेश्तम नाम की आख़री किरगिज़ बस्ती है।
  • अलाय वादी की परिस्थितियाँ यहाँ बसने वालों के लिए काफ़ी कठिन हैं। यहाँ से गुज़रे एक यात्री ने इस वादी का ब्यौरा देते हुए कहा कि "बिना नौकरियों के, कठोर सर्दियों और खेती के लिए ख़राब हालत में यहाँ जीवन बहुत मुश्किल है और यहाँ के अधिकतर पुरुष अन्य जगहों पर काम ढूँढने जा चुके हैं।"


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अलाय_वादी&oldid=499777" से लिया गया