Makhanchor.jpg भारतकोश की ओर से आप सभी को कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ Makhanchor.jpg

अलास्का  

अलास्का उत्तरी अमरीका के पश्चिमोत्तर भाग में स्थित, संयुक्त राज्य का बृहत्तम और सर्वाधिक विरल बसा हुआ, 49वां राज्य है। स्थिति: 51°40¢ उ. से 70° 50¢ उ.अ. तथा 130°0¢ प. से 173° 0¢¢ प. दे.; क्षेत्रफल: 5,86,400 वर्ग मील;। अधिकांश निवासी गोरी जाति के हैं। ऐंकरेज, केचिकन, और ईस्टचेस्टर माउंटेनव्यू आधुनिक सुविधासंपन्न नगर हैं।

संयुक्त राज्य ने 72 लाख डालर, यानी दो सेंट से भी कम प्रति एकड़ पर अलास्का को रूस से 1867 ई. में 30 मार्च को खरीदा। रूस (सन्‌ 1741-1867) और फिर संयुक्त राज्य की अनेक वर्षों की अधिकारावधि में अलास्का सर्वविधिशोष्य और औपनिवेशिक क्षेत्र के रूप में अविकसित रहा है। बाद में संयुक्त राज्य इसकी अत्यंत महत्वपूर्ण सामरिक महत्ता एवं प्रचुर संपत्ति को ध्यान में रखकर इसके विकास की ओर अग्रसर हुआ है। 1957 में इसे वैधानिक राज्य का अधिकार प्राप्त हुआ है।

अलास्का का धरातल अत्यंत विषम है। यहाँ संयुक्त राज्य के अन्य राज्यों में स्थित सर्वोच्च शिखर (माउंट ह्विटसनी: 14,501 फुट) से अधिक उँचे ग्यारह शिखर विद्यमान हैं जिनमें माउंट मैकिन्ले (20,300 फुट) उत्तरी अमरीका का सर्वोच्च शिखर है। धरातल, जलवायु, वनस्पति आदि की विशेषताओं एवं विकास की संभावनाओं को दृष्टि में रखकर अलास्का के तीन प्रमुख भौगोलिक विभाग किए जा सकते हैं: (1) प्रशांत महासागर तटीय क्षेत्र (50¢¢-120¢¢ वार्षिक वर्षा) जिसमें संपूर्ण दक्षिणी पूर्वी भाग सम्मिलित है, लगभाग 3,000 मील की लंबाई में फैला है। इस क्षेत्र का अधिकांश भाग पर्वतीय है जिसमें बीसों हिमशिखर, घाटियाँ एवं हिमनदियाँ हैं। निचली ढालों पर श्रीसरल (हेमलॉक), सरो एवं देवदारु के घने वन हैं। अन्य भागों की अपेक्षा इस भाग में शीत ऋतु में न कड़ाके की सर्दी, न ग्रीष्म में अधिक गर्मी पड़ती है। (2) मध्य का पठार (वर्षा: 9¢¢-19¢¢) दो लाख वर्ग मील का उच्च भूमिवाला क्षेत्र है, जिसमें यूकन तथा कुस्कोविग नदियाँ बहती हैं। यहाँ अत्यंत विषम जलवायु है पर कृषि एवं चरागाह योग्य सर्वाधिक यहीं हैं। वन अपेक्षाकृत निम्न कोटि के एवं अधिक खुले हैं। (3) उत्तरी मैदानी क्षेत्र में, जो ब्रुक्स पर्वतश्रेणियों द्वारा पठार से पृथक्‌ होता है, टुंड्रा की जलवायु एवं वनस्पति मिलती है। रेनडियर (बड़ा बारहसिंगा), कैरीबू (बारहसिंगे की एक विशेष जाति) तथा सील मछलियाँ यहाँ जीवननिर्वाह का मुख्य साधन हैं। कोयला एवं तेल भी यहाँ प्राप्त होता है।

अलास्का में सोना, चांदी, तांबा, पारा, कोयला, तेल, प्लैटिनम, राँगा, टंग्स्टेन, सीसा, जस्ता, संगमरमर तथा अन्य खनिज प्रचुर मात्रा में हैं, जिनका अधिकांश पर्वतीय भाग एवं पठार में है। मत्स्य (आय: 8,85,34,486 डालर), खनिज (आय: 2,78,90,000 डालर) तथा ऊर्णजिन (फर) (आय: 50,00,000 डालर) यहाँ प्रमुख उद्योग हैं। कृषि एवं चरागाहें की भी वृद्धि हो रही है। वनों से बहुमूल्य लकड़ियां प्राप्त होती हैं। इसके अतिरिक्त अलास्का के मनोरम दृश्यों तथा आखेट क्रीड़ा संबंधी सुविधाओं के कारण यात्री उद्योग (टुअरिज्म) बढ़ रहा है। यहाँ 648 मील रेल, 3,500 मील सड़क तथा वायुयान के छोटे बड़े 400 संस्थान हैं। वस्तुओं का आयात निर्यात मुख्यत: समुद्र द्वारा होता है। कुल वार्षिक व्यापार लगभग 23,00,00,000 डालर का हाता है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हिन्दी विश्वकोश, खण्ड 1 |प्रकाशक: नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 257 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अलास्का&oldid=630022" से लिया गया