कहावत लोकोक्ति मुहावरे-ह  

कहावत लोकोक्ति मुहावरे वर्णमाला क्रमानुसार खोजें

                              अं                                                                                              क्ष    त्र    श्र


कहावत लोकोक्ति मुहावरे अर्थ
1- हस्त बरस चित्रा मंडराय। घर बैठे किसान सुख पाए।। अर्थ - हस्त नक्षत्र में पानी बरसने और चित्रा नक्षत्र में बादल मंडराने से (चित्रा नक्षत्र की धूप बड़ी तेज़ होती है) किसान घर बैठे सुख पाते हैं।
2- हथिया पोछि ढोलावै। घर बैठे गेहूं पावै।। अर्थ - यदि इस नक्षत्र में थोड़ा पानी भी गिर जाता है तो गेहूं की पैदावार अच्छी होती है।
3- हँसी खेल समझना। अर्थ - साधारण काम समझना
4- हजामत बनाना। अर्थ - लूटना, पीटना।
5- हथियार डालना। अर्थ - हार मान लेना।
6- हथेली खुजलाना। अर्थ - कुछ धन मिलने को होना।
7- हथेली पर सरसों उगाना / ज़माना। अर्थ - शीघ्रातिशीघ्र काम कर देना।
8- हथेली पर जान लिये फिरना। अर्थ - मरने की परवाह नहीं करना।
9- हवाइयाँ छूटना। अर्थ - रंग उड़ जाना।
10- हवाई किले /महल बनाना। अर्थ - कल्पना मात्र करते रहना।
11- हवा के घोड़े पर सवार होना। अर्थ - आने –जाने की जल्दी मचाना।
12- हवा लगना। अर्थ - प्रभाव पड़ना।
13- हवा से बातें करना। अर्थ - तेज़ चलना।
14- हवा हो जाना। अर्थ - भाग जाना।
15- हाथ उठाना। अर्थ - मारने को तत्पर होना।
16- हाथ डालना। अर्थ - शुरू करना।
17- हाथ पसारना या फैलाना। अर्थ - माँगना।
18- हाथ –पाँव फूल जाना। अर्थ - डर से घबराना जाना।
19- हाथ पीले कर देना। अर्थ - लड़की की शादी कर देना।
20- हाथ –पैर मारना। अर्थ - कोशिश करना।
21- हाथ मलना या मलते रह जाना। अर्थ - कुछ प्राप्त न होना।
22- हाथ मारना। अर्थ - छीन लेना।
23- हाथ लगना। अर्थ - प्राप्त होना।
24- हाथ साफ़ करना। अर्थ - बेईमानी से लेना।
25- हाथों के तोते उड़ जाना। अर्थ - होशोहवास जाते रहना।
26- हाल पतला होना। अर्थ - दयनीय दशा होना।
27- हिन्दी की चिन्दी निकालना। अर्थ - बात की तह तक पहुँचना।
28- हीरे की कनी चाटना। अर्थ - प्राणनाशक कार्य करना।
29- हुलिया तंग होना। अर्थ - परेशान होना।
30- हुलिया बिगाड़ देना। अर्थ - दुर्गत करना।
31- होश सम्भालना। अर्थ - सयाना होना।

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कहावत_लोकोक्ति_मुहावरे-ह&oldid=624282" से लिया गया