गला भर आना  

गला भर आना एक प्रचलित लोकोक्ति अथवा हिन्दी मुहावरा है।

अर्थ- भावातिरेक के कारण गले आवाज़ न निकलना।

प्रयोग- हाय समृद्धि की रानी रूप की लक्ष्मी, शोभा की स्रोतस्विनी, अनुराग की तरंगिणी, मंजुला की आज यह दशा! उनका गला भर आया। -- हजारीप्रसाद द्विवेदी


टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

कहावत लोकोक्ति मुहावरे वर्णमाला क्रमानुसार खोजें

                              अं                                                                                              क्ष    त्र    श्र
"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=गला_भर_आना&oldid=625280" से लिया गया